DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इंदिरा आवास की सूची में शामिल होंगे वंचितों के नाम

इंदिरा आवास सूची में नाम नहीं है तो कोई बात नहीं। राज्य सरकार ने इंदिरा आवास की स्थायी सूची बन जाने के बाद भी दलितों-महादलितों के छूटे परिवारों के नामों को फिर से जोड़ने का निर्णय लिया है। कई जगहों पर इस दिशा में कार्रवाई भी शुरू कर दी गई है। ग्रामीण विकास विभाग ने सभी जिलों को इस संबंध में स्पष्ट निर्देश भी दिया है। विभाग के अनुसार सभी पंचायतों-प्रखंडों में ऐसे परिवार की खोज की जा रही है जिनका नाम स्थायी सूची बन जाने के बाद भी उसमें शामिल नहीं हो पाया है।

पिछले दिनों इंदिरा आवास वितरण के लिए सरकार द्वारा चलाए गए विशेष अभियान में क्रम में यह बात सामने आई कि कई पंचायतों व प्रखंडों में इंदिरा आवास की प्रतीक्षा सूची में अनुसूचित जाति के परिवारों को पूर्णत: इंदिरा आवास दिया जा चुका है। बावजूद इसके बड़ी संख्या में इस वर्ग के परिवार वंचित हैं।

विमर्श के बाद यह बात सामने आई कि स्थायी सूची बनाने के क्रम में ये लोग छूट गए हैं। इसीलिए आवास के लाभ से वंचित हैं। ऐसी सूचना प्राप्त होने के बाद विभाग ने ऐसे तमाम परिवारों का नाम स्थायी सूची में फिर से शामिल करने का निर्णय लिया। इसके लिए उनसे आवेदन लेकर सभी प्रक्रियाओं के पालन का निर्देश भी दिया गया है।

ग्रामीण विकास मंत्री नीतीश मिश्र ने बताया कि अनुसूचित जाति के परिवारों के नाम स्थायी सूची से छूटने की सूचना मिली है। इसके बाद विभाग ने ऐसे तमाम परिवारों का नाम फिर से सूची में शामिल करने की कार्रवाई शुरू कर दी है। बड़ी संख्या में ऐसे लोगों के नाम सूची में शामिल किए गए हैं और आगे भी यह कार्रवाई जारी है। सरकार ऐसे वर्ग के किसी भी जरूरतमंद परिवार को इस लाभ से वंचित नहीं रहने देगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:इंदिरा आवास की सूची में शामिल होंगे वंचितों के नाम