DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नीतीश ने किया बिहारी अस्मिता से खिलवाड़: लालू

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर बिहारी अस्मिता के साथ खिलवाड़ करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि बिहार शताब्दी समारोह के लिए नीतीश कुमार राज ठाकरे की शर्तो पर महाराष्ट्र गए। यही नहीं वहां जाकर ‘जय महाराष्ट्र’ करने लगे। राज ने उनसे ‘हर्दी-गुर्दी’ बोलवा दिया। बाल ठाकरे, राज ठाकरे या नीतीश कुमार सभी एक खेमे के हैं।   

लालू प्रसाद अपने आवास पर पत्रकारों से बात कर रहे थे। उन्होंने संघ के बयान पर कहा कि नरेन्द्र मोदी ही भाजपा के फेस हैं, इसमें नई बात नहीं। संघ ने अगर यह कह दिया कि देश को मोदी का इंतजार है, तो इसका मतलब समझना चाहिए। यह तो उनके साथ बैठे लोगों को तय करना होगा कि वे कहां हैं? मोदी के बारे में कुछ कहने की जरूरत है? उनके कारनामे को पूरे देश ने देखा है। जनता सब समझती है। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि निर्मल बाबा का खेल भंडोल हो गया है। वे तो खुद ही उनके ट्रैप में आने वाले थे, लेकिन ऐसा नहीं हो पाया। पर, बाबा के अलावा वे लोग भी दोषी हैं, जो ऐसे लोगों से ठगे जाते हैं।

प्रसाद ने दिल्ली में एनसीटीसी पर हो रही बैठक में ममता बनर्जी के न जाने को गलत बताया और कहा कि उन्हें बैठक का बहिष्कार करने की बजाए उसमें जाकर अपनी बात कहनी चाहिए थी। यही नहीं उन्होंने काटरून प्रकरण पर हुई घटना की निन्दा की और कहा कि यह अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का हनन है। उनके ऊपर भी कई काटरून बने, पर उन्होंने तो उसका मजा ही लिया।

राहुल गांधी द्वारा खुद को ब्राह्मण कहे जाने को उन्होंने सही ठहराया और कहा कि इसमें कुछ भी गलत नहीं है। वे नेहरू खानदान से जुड़े हैं और उस परिवार की पहचान किसी से छुपी नहीं है। इस मुद्दे पर जदयू नेता शिवानंद तिवारी की प्रतिक्रिया को उन्होंने अनावश्यक बताया। उन्होंने कहा कि तिवारीजी को ऐसा नहीं बोलना चाहिए। उनके पिताजी महामानव थे और उन्होंने कभी जाति-धर्म की बात नहीं की। वे सामाजिक न्याय में विश्वास करते थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नीतीश ने किया बिहारी अस्मिता से खिलवाड़: लालू