DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

निष्पक्ष चुनाव के लिए हो रहे कई नए प्रयोग

निष्पक्षता को ध्यान में रखकर इस बार के नगरपालिका चुनाव में कुछ नए प्रयोग भी किए जा रहे हैं। प्रत्याशियों से लेकर उनके समर्थकों और प्रस्तावकों के लिए नियम सख्त किए गए हैं, तो कमजोर वोटर निर्भीक होकर मताधिकार का प्रयोग कर सकें, इसके लिए भी खास इंतजाम किए गए हैं। चुनाव में स्वच्छ छवि के लोग चुनकर आएं इसको ध्यान में रखकर उन प्रत्याशियों का स्पीडी ट्रॉयल कराने का निर्देश दिया गया है, जिनके खिलाफ आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं।

स्पीडी ट्रॉयल
नगरपालिका चुनाव में किसी प्रत्याशी के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज होने की सूचना मिलने पर अगले 24 घंटे में स्पीडी ट्रॉयल की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। नामांकन पत्र में कोई अभ्यर्थी, प्रस्तावक या समर्थक अपने शपथ पत्र में अपने विरुद्ध लंबित आपराधिक मुकदमों की सूचना दर्ज करता है तो निर्वाची पदाधिकारी ऐसी सूचनाओं की एक फोटो कॉपी अगले ही दिन जिला निर्वाचन पदाधिकारी को भेजेंगे।

जिला निर्वाचन पदाधिकारी नामांकन पत्र की इस कॉपी की एक अलग फाइल बनाएंगे और उसकी कॉपी उसी दिन संबंधित जिले के एसएसपी व एसपी और आयोग को भेजकर यह सूचना देंगे कि संबंधित अभ्यर्थी, प्रस्तावक या समर्थक के खिलाफ आपराधिक मुकदमे लंबित हैं।

एसएसपी व एसपी भी जिला निर्वाचन पदाधिकारी से प्राप्त नामांकन पत्रों की एक अलग फाइल बनाएंगे। तत्काल उन आपराधिक मुकदमों का स्पीडी ट्रॉयल कराकर अंतिम निष्कर्ष तक पहुंचाएंगे। पूरी कार्रवाई की जानकारी आयोग को दी जाएगी। आयोग डीएम, एसएसपी व एसपी से संपर्क कर ऐसे मुकदमों की सूची आयोग के बेवसाइट पर भी करेगा।

सफाई कर्मियों व स्लम एरिया के लिए अलग बूथ
नगरपालिका क्षेत्र में रहने वाले सफाईकर्मियों के लिए अलग मतदान केन्द्र बनाए जाएंगे। आयोग ने कहा कि सफाईकिर्मयों व स्लम एरिया में बूथ बनाए जाएंगे ताकि वे निर्भीक होकर वोटिंग कर सकें।

शैक्षणिक योग्यता की जानकारी
साक्षर प्रत्याशियों को नामांकन पत्र के साथ शैक्षणिक योग्यता की जानकारी देनी होगी। मैट्रिक या उसके समकक्ष की परीक्षा पास हैं उन्हें सर्टिफिकेट की स्व अभिप्रमाणित कॉपी देनी होगी। इसके पीछे का मकसद यह है कि प्रत्याशी चुनाव में अपनी सही उम्र बताएं।

संपत्ति का मूल्यांकन
जिन प्रत्याशियों की जमीन का मूल्य दो लाख से अधिक और मकान का मूल्य एक लाख से अधिक होगा, वैसे प्रत्याशियों को अपनी जमीन और मकान का मूल्यांकन कराना होगा।
महिला प्रत्याशियों को दी जाएगी निर्वाचन प्रक्रिया की जानकारी

महिला प्रत्याशियों को निर्वाचन की प्रक्रिया को समझने और उसके अनुपालन में किसी तरह की परेशानी न हो इसके लिए उन्हें प्रमंडल और जिला स्तर पर जानकारी दी जाएगी। इसके लिए प्रमंडलीय मुख्यालय में तैनात किसी भी विभाग की वरीयम महिला पदाधिकारी के प्रभार में महिला प्रेक्षक कोषांग होगा। जिला स्तर पर भी कोषांग के गठन का निर्देश दिया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:निष्पक्ष चुनाव के लिए हो रहे कई नए प्रयोग