DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नेशनल हाईवे पर विकलांग दौड़ा रहा था ट्रक

आरटीओ और पुलिस की अनदेखी का आलम ये है कि एक विकलांग बेरोकटोक नेशनल हाईवे पर ट्रक दौड़ा रहा था। पैर की कमजोरी की वजह से उसने लाल फाटक पर स्कूटर सवार व्यापारी को टक्कर मार दी, जिससे व्यापारी गंभीर रूप से घायल हो गया। लोगों ने फाटक बंदकर ट्रक चालक को भागने नहीं दिया। उसे पीटकर कैंट पुलिस को सौंप दिया। कैंट पुलिस ने ड्राइवर को 72 घंटे बाद सोमवार को जेल भेजा है।

कैंट में कांधरपुर निवासी यशपाल गैरा की बीआई बाजार में जनरल मर्चेट की दुकान है। शुक्रवार शाम को यशपाल पत्नी रीना और बेटी शालिनी के साथ स्कूटर से शहर आ रहे थे। ट्रेन आ रही थी, लिहाजा रेलवे फाटक बंद था। यशपाल पैरों से स्कूटर टेककर वहीं खड़े हो गए। उनकी पत्नी और बच्चाे स्कूटर से उतरकर साइड में खड़े हो गए। इस दौरान पीछे से आया एक ट्रक स्कूटर पर चढ़ गया। दुर्घटना में यशपाल गैरा के हाथ और पैर में फ्रैक्चर आ गया। गंभीर हालत में यशपाल को गांधी उद्यान के पास एक अस्पताल में भर्ती कराया गया। इधर, लोगों ने भागने का प्रयास कर रहे ड्राइवर सूफी टोला निवासी इम्त्यिाज को पकड़ लिया। पीटने के बाद उसे पुलिस को सौंप दिया। पुलिस सीमेंट लदा ट्रक भी थाने ले गई। यशपाल गैरा के भाई राहुल की ओर से थाना कैंट में इम्त्यिाज के खिलाफ तहरीर दी गई। आरोप है कि पुलिस ने नामजद एफआईआर दर्ज नहीं की, घटना को अज्ञात में लिखा। शुक्रवार से इम्त्यिाज कैंट पुलिस के लॉकअप में था। कैंट पुलिस ने सोमवार को इम्त्यिाज को कोर्ट में पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

जारी कैसे हो गया लाइसेंस
सूफी टोला निवासी इम्त्यिाज का दुर्घटना में एक पैर खराब हो गया था। तब से पैर में रॉड पड़ी हुई है। इसके सहारे ही वह गाड़ी चलाता था। विकलांग होने के बावजूद लाइसेंस जारी कर दिया गया। 

विकलांग व्यक्ति को लाइसेंस जारी नहीं होता। लाइसेंस जारी होने के बाद ड्राइवर विकलांग हुआ होगा। इसकी चेकिंग नहीं हो पाती है। ड्राइवर का लाइसेंस निरस्त कराया जाएगा।
शिव पूजन त्रिपाठी, आरटीओ

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नेशनल हाईवे पर विकलांग दौड़ा रहा था ट्रक