DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सूर्यप्रताप ने अपनी भूमिका से पल्ला झाड़ा

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव में पार्टी की शर्मनाक पराजय के बाद अपने पद से इस्तीफा दे चुके भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सूर्य प्रताप शाही ने बसपा के विवादास्पद नेता बाबू सिंह कुशवाहा को पार्टी में शामिल किये जाने के मुददे पर अंतत: अपनी चुप्पी तोड़ते हुए इस प्रकरण में अपनी भूमिका से पल्ला झाड़ लिया।
     
पार्टी के नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मीकांत बाजपेयी के स्वागत के लिए आज पार्टी मुख्यालय पर हुए समारोह को संबोधित करते हुए शाही ने कहा, भाजपा में कुशवाहा को शामिल किया जाना मेरे कार्यकाल पर एक कालिख है। इसलिए भी कि इसकी जिम्मेदारी मुझ पर आती है, जबकि सच यह है कि इस निर्णय में मेरी कोई भूमिका नहीं थी।
     
शाही ने कुशवाहा को पार्टी में शामिल किये जाने में अपनी कोई भी भूमिका नहीं होने का दावा करते हुए कहा कि उन्हें पार्टी के इस निर्णय की जानकारी कुशवाहा को शामिल करने की घोषणा के लिए हुए संवाददाता सम्मेलन से महज दो घंटे पहले मिली थी और उसमें वे पार्टी का प्रदेश अध्यक्ष होने के नाते उपस्थित हुए थे। उन्होंने कहा, मैंने सोचा कि पद से मुक्त होने से पहले मैं अपने कार्यकाल पर लगे इस धब्बे को साफ कर दूं। कुशवाहा को पार्टी में शामिल करने के निर्णय में मेरी कोई भूमिका नहीं थी और यह निर्णय पार्टी नेतृत्व का था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सूर्यप्रताप ने अपनी भूमिका से पल्ला झाड़ा