DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उर्दू लर्निग कोर्स में 105 छात्रों ने लिया दाखिला

कार्यालय संवाददाता पटना। हिन्दी भाषी छात्र व छात्राओं में उर्दू सीखने की ललक कितनी है इसका एक उदहरण दिखा उर्दू भवन में। अंजुमन तरक्की-ए- उर्दू बिहार की ओर से उर्दू भवन में शुरु किए गए उर्दू लर्निग कोर्स में 105 उर्दू प्रेमियों ने दाखिला लिया। रविवार को सभी छात्र उर्दू भवन पहुंचे और एक-दूसरे से परिचित हुए। सबों में उर्दू जानने की तड़प थी।

छात्रों ने कहा कि यह बहुत अच्छी पहल है। भाषा किसी की जागीर नहीं होती है। छात्रों ने कहा कि कई भाषाओं के जानकार हैं और अगर आप को उर्दू पढ़ना-लिखना नहीं आता तो कहीं-कहीं परेशानी हो जाती है। सोमवार से छात्रों का क्लास शुरु हो जाएगा और 15 दिनों बाद इन्हें अंजुमन की तरफ से एक प्रमाण-पत्र दिया जाएगा। इ

स मौके पर अंजुमन के सचिव अब्दुल कैयूम अंसारी ने कहा कि बिहार में उर्दू को दूसरी राजकीय भाषा का दर्जा हासिल है। उन्होंने कहा कि उर्दू भाषा के जाने बगैर आप की भाषा में मीठास पैदा नहीं हो सकती है। हिन्दी भाषी छात्रों के उर्दू सीखने से यहां का माहौल और खुशगवार होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:उर्दू लर्निग कोर्स में 105 छात्रों ने लिया दाखिला