DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कोचिंग संचालक की हत्या में मोस्ट वांटेड शेरू का हाथ

आरा। निज प्रतिनिधि। कोचिंग संचालक एचएन सिंह के गांव के मोस्ट वांटेड शेरू सिंह ने ही उनकी हत्या की है। आठ साल पहले हुई भाई की मौत का बदला शेरू सिंह ने एचएन सिंह की हत्या कर चुकाया है। बक्सर पुलिस के लिए सिरदर्द बने शेरू सिंह ने इस कार्य के लिए आरा के एक अपराधी का सहयोग लिया जिसे पुलिस ने दो अन्य युवकों के साथ गिरफ्तार कर रविवार को पूरे घटनाक्रम पर से पर्दा उठा दिया।

पुलिस कप्तान एमआर नायक ने बताया कि 11 अप्रैल को कोचिंग संचालक एचएन सिंह की हत्या के बाद पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए 12 घंटे में ही सफलता हासिल कर ली थी। मोस्ट वांटेड शेरू सिंह की गिरफ्तारी में दिन-रात जुटी पुलिस कार्रवाई को गोपनीय रखी हुई थी।

परसिया (जगदीशपुर) के विक्की चौधरी से शेरू ने घटना को अंजाम देने के लिए पहले संपर्क किया। दो अन्य साथियों के साथ पटना आये शेरू ने भाड़े पर इंडिगो कार ली और विक्की के कहने पर रिंकू के यहां भोजन किया। इसके बाद राहुल की बाइक ली और हत्या की वारदात को अंजाम दे दिया।

इस दौरान इंडिगो पर सवार उसके दो अन्य साथी ब्लॉक के बाहर गाड़ी लगाकर खड़े थे जो घटना के बाद बाइपास स्थित गोपाल लाइन होटल पहुंचे। वहां हत्या के बाद बाइक से आये शेरू इंडिगो से वापस पटना लौट गया। पुलिस कप्तान ने बताया कि विक्की ने पूछताछ के क्रम में बताया कि आठ साल पहले एचएन सिंह और शेरू का भाई दोनों ब्लॉक के पास ही लॉज में रहकर पढ़ते थे।

इसी दौरान शेरू के भाई का पंखे में शव लटका हुआ मिला था जिसके कारण उस वक्त आत्महत्या का रूप दे दिया गया था, ऐसा मानना शेरू का था। विक्की ने बताया कि उसकी हत्या कर दी गयी थी जिसमें एचएन सिंह पर शेरू को शक था। बदला चुकाने के लिए ही उसने एचएन सिंह की हत्या कर दी।

पुलिस कप्तान ने बताया कि खोजबीन में हत्या का कारण फिलहाल यही आ रहा है। शेरू के पकड़ाने के बाद तस्वीर और साफ हो जाएगी। अन्य कारणों मसलन रंगदारी या प्रेम प्रसंग के बारे में भी शेरू की गिरफ्तारी के बाद ही स्पष्ट होगा। परसिया के रहने वाले विक्की चौधरी और राहुल व रिंकू तीनों को हत्याकांड में जेल भेजा जा रहा है।

विक्की को इससे पहले सिमरी पुलिस ने लूट व हत्या के एक मामले में जेल भेजा था जहां बक्सर जेल में शेरू से दोस्ती हुयी थी। रिंकू और राहुल का आपराधिक इतिहास नहीं है। तीनों अभियुक्तों के पास से 9 मोबाइल सेट और पल्सर जब्त की गयी है।

विक्की को कोईलवर से गिरफ्तार किया गया है जबकि राहुल और रिंकू को परसिया से पकड़ा गया है। गिरफ्तारी में टाउन डीएसपी जीएम कुमार, ग्रामीण डीएसपी रविश कुमार, इंस्पेक्टर विनोद कुमार, थानाध्यक्ष डा. राजेश दूबे व डीआईयू इंचार्ज धर्मेन्द्र कुमार और उनकी टीम ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कोचिंग संचालक की हत्या में मोस्ट वांटेड शेरू का हाथ