DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

काबुल पर सबसे बड़ा हमला

अफगानिस्तान रविवार को अब तक के सबसे बड़े आतंकवादी हमलों से थर्रा उठा। तालिबान आतंकियों ने काबुल में अति सुरक्षित माने जाने वाले इलाके में विदेशी दूतावासों, नाटो के सैन्य मुख्यालय और संसद भवन के साथ तीन अन्य शहरों को निशाना बनाया। हमले में भारतीय दूतावास व अन्य ठिकाने सुरक्षित हैं।
तालिबान ने हमलों की जिम्मेदारी ली है। नाटो के मुताबिक काबुल में सात और पूरे देश में 12 जगह पर हमले किए गए। कई घंटों बाद भी मुठभेड़ जारी थी।

हमलावरों की संख्या का पता नहीं : अधिकारियों ने बताया कि आतंकियों ने शहर-ए-नव इलाके में नई बनी एक इमारत से पोजीशन लेकर दूतावासों पर हमले शुरू किए। उनकी संख्या का पता नहीं चल सका। यह इमारत अमेरिकी दूतावास, नाटो मुख्यालय, तुर्की के दूतावास, राष्ट्रपति आवास, ईरानी दूतावास और कई अन्य राजनयिक कार्यालयों के पास है।

उपराष्ट्रपति थे निशाने पर
कुछ आतंकियों ने संसद में घुसने की कोशिश की, लेकिन सुरक्षाबलों ने उन्हें रोक दिया। आतंकियों ने उप राष्ट्रपति मुहम्मद करीम खलीली के घर पर फायरिंग भी की। उनका मुख्य निशाना जर्मनी, ब्रिटेन के दूतावास और नाटो मुख्यालय था। काबुल के पांच सितारा होटल ‘स्टार’ के अलावा जलालाबाद के एयरपोर्ट, लोगार और पाक्तिया में भी हमले किए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:काबुल पर सबसे बड़ा हमला