DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सात फेरों का हक पाने पहुंची ससुराल

प्रेम विवाह रचाने के बाद अब पहचानने से भी इंकार करने वाले ‘पति’ को सबक सिखाने के लिए बीए की छात्र रुक्मिणी ससुराल की दहलीज पर जा धमकी। उसका कहना है कि उसका प्रेमी नीरज एक साल पहले ही उसके साथ मंदिर में सात फेरे ले चुका है। लेकिन, अब उसे साथ रखने से इंकार कर रहा है।

इधर, नीरज रुक्मिणी के दावे को खारिज कर रहा है और उसके आने के बाद अपना घर छोड़ चुका है। मामले का कोई हल निकलते नहीं देख रुक्मिणी रविवार को महिला थाने पहुंची। इस पर थानाध्यक्ष अनामिका यादव ने रुक्मिणी के नीरज को तलब किया है।

मामला इटाढ़ी थाना क्षेत्र के देवस्थापुर गांव का है। बक्सर मुफस्सिल थाना क्षेत्र के बलुआ गांव की बीए पार्ट वन की छात्र रुक्मिणी का कहना है कि देवस्थापुर गांव के नीरज कुमार ने एक वर्ष पहले रामरेखाघाट स्थित एक मंदिर में परिजनों की मौजूदगी में अग्नि को साक्षी मान उसके साथ सात फेरे लिये थे।

नीरज उसकी भाभी का भाई है। पढ़ाई के सिलसिले में बक्सर आने-जाने के दौरान ही दोनों के बीच की नजदीकियां प्यार में बदल गई और दोनों ने परिजनों की मौजूदगी में रामरेखा घाट पर शादी रचा ली। रुक्मिणी के पिता की माने तो शादी के बाद रुक्मिणी अपनी ससुराल भी गई पर कुछ ही दिनों बाद उसे दहेज के लिए प्रताड़ित किया जाने लगा।

अब उसके ससुराल पक्ष के लोग नीरज के साथ उसकी किसी शादी से ही इंकार कर रहे हैं। इस इंकार के बाद विगत दिनों रुक्मिणी अपने ससुराल जा धमकी और अपने विवाहिता होने के अधिकार की मांग की।

इधर रुक्मिणी का कथित पति नीरज उसके साथ किसी भी तरह के संबंध से साफ इंकार कर रहा है। नीरज के भाई उमेश का कहना है कि आठ माह पहले रुक्मिणी खुद देवस्थापुर पहुंची थी।

उसका कहना था कि नीरज ने उसके साथ शादी का वादा किया है और उसे शादी करनी ही होगी। इस मामले में मुखिया की मौजूदगी में पंचायती भी हुई थी, जिसके बाद दोनों पक्षों में शादी के लिए सहमति बनी।

रामरेखाघाट पर दोनों पक्षों के लोग जुटे पर नीरज एक बार फिर शादी के लिए तैयार नहीं हुआ। उसके बाद फिर से लड़की पक्ष के द्वारा दबाव बनाया जाने लगा। उमेश का यह भी कहना है कि उसके बहनोई उनकी बहन को छोड़ने की बात कर रहे हैं। इसी क्रम में 20 मार्च को रुक्मिणी उनके घर देवस्थापुर पहुंच गई और जबरन घर में रह रही है।

रुक्मिणी को साथ लेकर महिला थाने पहुंचे उसके पिता ने बताया कि एक वर्ष पहले रामरेखाघाट पर नीरज के साथ रुक्मिणी की शादी हुई थी और अब ससुराल पक्ष के लोग दहेज में बाइक और टीवी के लिए उसे प्रताड़ित कर रहे हैं और घर से निकाल रहे हैं। इस मामले की जानकारी परिवार परामर्श केन्द्र को भी दी गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सात फेरों का हक पाने पहुंची ससुराल