DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जाति की राजनीति से घाटा ही होगा राहुल को: शिवानंद

जदयू के राष्ट्रीय प्रवक्ता व सांसद शिवानंद तिवारी ने कहा है कि राहुल गांधी को जाति की राजनीति से घाटा ही होगा। ऐसे में वह न इधर के रहेंगे और न ही उधर के। वोट के लिए वे दौड़ते ही रह जाएंगे। यूपी विधानसभा चुनाव में मुलायम सिंह और मायावती पर जाति की राजनीति का आरोप लगाने वाले राहुल गांधी अब अपनी जाति खुद बता रहे हैं। पर, आश्चर्य है कि वह अपने दादा की नहीं, बल्कि दादी के परिवार की जाति बता रहे हैं।

तिवारी ने कहा कि राहुल गांधी अपनी जो जाति बता रहे हैं उसी जाति ने समाज में यह नियम बनाया है कि औरत की अपनी कोई जाति नहीं होती। औरत की पहचान उसके पति की जाति से होती है। इसी नियम के अनुसार राहुल जी के नाम में गांधी टायटल लगा है। यह टायटल राहुलजी के दादाजी का है, जो एक शानदार और खुदमुख्तार इंसान थे।

तिवारी ने कहा कि दरअसल यह सब वोटबैंक का खेल है। खुद को ब्राह्मण बताकर वे यूपी में अपना आधार मजबूत करना चाहते हैं। उनको लगता है कि यूपी का ब्राह्मण चौराहे पर खड़ा है और खुद को ब्राह्मण बताकर वे उन्हें झट से अपने पीछे कर लेंगे। अगर गांधी नामधारियों का भारी-भरकम वोट होता तो राहुलजी अपनी जाति का परिचय निश्चित रूप से दादा की जाति से देते। पर, दुर्भाग्य यह है कि गांधी नामधारियों की संख्या बहुत कम है। लिहाजा उनसे जुड़ने में राहुल जी को नुकसान नजर आ रहा है। इसीलिए वे अपना संबंध दादी वाली मजबूत जाति से जोड़ना चाहते हैं। पर, यह सब उतना सहज और आसान नहीं है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जाति की राजनीति से घाटा ही होगा राहुल को: शिवानंद