DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बालिका की गला घोंटकर हत्या

नारखी क्षेत्र में एक बालिका की बेरहमी से गला दबाकर हत्या कर दी गई। वह शनिवार की शाम से लापता थी। उसका तार से गला दबाया गया है। लोगों ने शव को देखा तो क्षेत्र में सनसनी फैल गई। देखते ही देखते वहां पर गांव के लोगों का तांता लग गया। पता चलने पर परिवारीजन भी वहां पर पहुंच गए। उन्होंने परिवार के ही लोगों पर जायजाद की खातिर हत्या करने का आरोप लगाया है। पिता ने अपनी भाभी सहित तीन लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की है। पुलिस ने मौके पर पहुंच कर शव को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भिजवाया।

नारखी निवासी जया (9) पुत्री लटूरी शनिवार की शाम घर के बाहर खेल रही थी । उसी दौरान वह लापता हो गई। देर शाम तक वह घर नहीं पहुंची तो परिवारीजनों ने थाने में उसके  लापता होने की जानकरी दी। परिवारीजन उसकी पूरी रात तलाश करते रहे। उसका शव रविवार को रिजावली के समीप एक खेत में पड़ा मिला। उसकी मोबाइल फोन चाजर्र के तार से गला दबाकर हत्या की गई। क्षेत्र के लोग शौच को गए तो खेत में शव को देख घबरा गए। खेत में शव की खबर लगते ही सनसनी फैल गई। देखते ही देखते वहां पर आसपास के लोग एकत्रित हो गए। शव के बारे में पता लगते ही इलाका पुलिस मौके पर पहुंची। उसके परिवार वाले भी जानकारी होने पर वहां पहुंच गए। शव को देख परिवारीजन भौंचक्के रह गए। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भिजवाया।
 
लड़की की ताई सहित तीन के खिलाफ रिपोर्ट
फिरोजाबाद। जया की हत्या के मामले में उसके पिता लटूरी ने अपनी भाभी उमा पत्नी राजेश उसके पुत्र राममोहन निवासी धोकल नारखी तथा रिश्तेदार वीटू निवासी सराय जलेसर के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है। पिता का कहना है कि जमीन के विवाद को लेकर उसकी भाभी से झगड़ा हुआ था। उसकी भाभी ने जया को जान से मारने की धमकी भी दी थी। पुलिस मामले की तहकीकात में जुटी हुई है।
 
पिता की जायजाद की इकलौती वारिस थी
फिरोजाबाद। जया की हत्या का कारण जायजाद का विवाद बताया गया है। लड़की अपने पिता के हिस्से की अकेली वारिस थी। उसके पिता के हिस्से में करीब 13 बीघा जमीन थी। जया की मां की पांच वर्ष पूर्व मौत हो गई थी। उसका न कोई भाई था न कोई बहन थी। पिता के बाद वहीं उस जायजाद की मालिक बनती। यह बात उसके उसके ताऊ तथा उसके परिवारीजनों को गंवारा नहीं था। ऐसा लड़की के पिता लटूरी का कहना था।
 
बुआ के पास रहती थी दादी की तैरहवीं में आई थी
फिरोजाबाद। मां की मौत के  समय जया काफी छोटी थी। पिता लड़की को पाल नहीं पा रहा था। बच्चाी के दुख को उसकी बुआ स्नेह पर नहीं देखा गया। वह उसे अपने साथ बरेली ले गई थी। तभी से जया बरेली में रह रही थी। पिछले दिनों उसकी दादी की मौत हो गई। वह दादी की तैरहवी में शामिल होने के लिए अपनी बुआ का साथ सोमवार को यहां पर आई थी। लड़की की मौत से पिता तथा उसकी बुआ का रोते रोते बुरा हाल था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बालिका की गला घोंटकर हत्या