DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विवादित द्वीप पर अहमदीनेजाद, भड़का लेबनान

लेबनान ने ईरानी राष्ट्रपति महमूद अहमदीनेजाद के विवादित द्वीप, अबु मूसा के दौरे की आलोचना की है। लेबनान के प्रधानमंत्री नजीब मिकाती ने शनिवार को लेबनान में ईरानी राजदूत गजनफर रोकनाबादी के साथ अहमदीनेजाद के विवादित द्वीप के हाल के दौरे पर बात की।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, प्रधानमंत्री ने रोकनाबादी से कहा कि दौरे के दौरान अहमदीनेजाद की टिप्पणियों ने क्षेत्र में चल रहे विवाद को भड़का दिया है, वह भी ऐसे समय में जब हमें शांति और सुरक्षा बढ़ाने के लिए जागरूकता की जरूरत है, क्योंकि शांति और सुरक्षा क्षेत्र के सभी देशों पर सकारात्मक असर डालते हैं और विकास में योगदान करते हैं।

ज्ञात हो कि बुधवार को अहमदीनेजाद ने ईरान के नियंत्रण वाले अबु मूसा द्वीप का दौरा किया। इस दौरे की अरब देशों ने तत्काल आलोचना की और ईरान स्थित संयुक्त अरब अमीरात के राजदूत को वापस बुला लिया।

मिकाती ने अहमदीनेजाद की उस टिप्पणी पर भी आश्चर्य जाहिर किया, जिसमें उन्होंने कहा था कि ईरानी सभ्यता और संस्कृति युगों से हावी रही है। मिकाती ने कहा कि अरब सभ्यता इस क्षेत्र के देशों में लम्बे समय से व्याप्त रही है।

ईरान और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई), दोनों खाड़ी में स्थित तीनों द्वीपो- ग्रेटर और लेसर तुनब्स तथा अबु मूसा -पर अपनी सम्प्रभुता का दावा करते हैं, और इसे लेकर उनके बीच दशकों से विवाद है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विवादित द्वीप पर अहमदीनेजाद, भड़का लेबनान