DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जमकर इस्तेमाल कीजिए साड्डा हक

पहली बार तीन निगमों के गठन का इतिहास रचने जा रही दिल्ली में नगर निगम चुनाव के लिए रविवार को मतदान होगा। राज्य निर्वाचन आयोग ने मतदान के लिए व्यापक तैयारियां की हैं। दिल्ली के निर्वाचन आयुक्त राकेश मेहता ने बताया कि वोट डालने के लिए पोलिंग बूथ पर आने वाले लोगों को किसी तरह की परेशानी न हो, इसके लिए पूरे इंतजाम किए गए हैं।

पूरे शहर में 11,543 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। दिल्ली के 1.15 करोड़ मतदाता 2,423 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे। मतदान सुबह 8 बजे शुरू होगा और शाम साढ़े पांच बजे तक चलेगा। लगभग 77 हजार चुनावकर्मी और 83 हजार सुरक्षाकर्मी चुनाव प्रक्रिया को पूरा कराएंगे।

निगम के कुल 272 वार्ड को तीन हिस्सों उत्तरी, दक्षिणी और पूर्वी नगर निगम में विभाजित किया गया है। जन सुविधाओं की पूर्ति का दायित्व कारगर तरीके से पूरा करने की दलील देते हुए यह विभाजन किया गया है। उत्तरी और दक्षिणी नगर निगम में 104-104 वार्ड और पूर्वी नगर निगम में 64 वार्ड हैं।

उत्तरी नगर निगम में 42.95 लाख मतदाता, दक्षिणी नगर निगम में 42.67 लाख और पूर्वी नगर निगम के 27.16 लाख मतदाता अपने पार्षदों का चयन करने के लिए वोट डालेंगे। एमसीडी का यह चुनाव निगम के तीन हिस्सों में विभाजन और महिलाओं के लिए आधी सीट आरक्षित किए जाने के कारण ऐतिहासिक बन गया है। चुनाव के बाद पहली बार दिल्ली में तीन नगर निगमों का गठन होगा।

साथ ही यह दिल्ली का पहला ऐसा शहर भी बन जाएगा जिसमें पार्षदों की संख्या में आधी हिस्सेदारी महिलाओं की होगी। निगम के कुल 272 वार्ड में 138 महिलाओं के लिए आरक्षित हैं। सबसे ज्यादा 904 उम्मीदवारदक्षिणी निगम में हैं। जबकि उत्तरी निगम में 885 और पूर्वी निगम के लिए 634 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। जामिया नगर, चांदनी चौक और सीलमपुर विधानसभा क्षेत्रों में 55 मतदान केंद्र को अति संवेदनशील और 273 को संवेदनशील घोषित किया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जमकर इस्तेमाल कीजिए साड्डा हक