DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दिल्ली से ज्यादा हरियाणा के बच्चों की काया छरहरी

हरियाणा के बच्चे दिल्ली सहित दूसरे राज्यों की तुलना में छरहरी काया के हैं। इसका खुलासा नेशनल डायविटिक, ओवेसिटी एंड कोलेस्ट्राल सेंटर की सर्वे रिपोर्ट में हुआ है।

सर्वे में दिल्ली, पंजाब और हरियाणा के 5-12 वर्ष के बच्चों को शामिल किया गया। हरियाणा के बच्चों में न तो ओवर वेट की शिकायत है और न ही कम खाने से होने वाली बीमारी। सभी बेहद चुस्त-दुरुस्त हैं। रिपोर्ट के अनुसार दिल्ली के बच्चे 35 फीसदी मोटे है। जबकि हरियाणा के बच्चाे मात्र पांच फीसदी मोटे हैं। बावजूद इसके ये बच्चे दूध, दही और मक्कखन के शौकीन हैं। उन्होंने कभी खाने-पीने में कोई परहेज नहीं किया। भरपूर खाया और भरपूर खेला। ये जरूर है कि कैलोरिज जलाने के लिए खुद को चुस्त एवं अपटूडेट रखने के लिए रोजाना चार घंटे खेलते हैं। वहीं, व्यायाम के मामले में दिल्ली के मात्र 10 फीसदी बच्चे पार्क में जाकर एक घंटे से कम समय बिताते हैं। जबकि हरियाणा के 40 फीसदी बच्चे न्यूनतम चार घंटे शारीरिक श्रम करते हैं। साइकिलिंग चलाने में भी यहां के बच्चाे दिल्ली से बेहतर है। हरियाणा के 30 फीसदी बच्चों का स्कूल जाने का मुख्य साधन है। जबकि दिल्ली के बच्चाे मात्र दो फीसदी बच्चे साइकिल से स्कूल जाते हैं। जबकि पंजाब के बच्चे 50 फीसदी स्कूली गतिविधयों में भाग लेते हैं। अध्ययन टीम के डॉ. हर्षित का कहना है कि इस दौरान दिल्ली, हरियाणा और पंजाब के करीब 5 हजार बच्चों की सेहत का जायजा लिया गया था। इस दौरान करीब 6 सौ बाल रोग विशेषज्ञ मौजूद थे। जो प्रत्येक आयु वर्ग के बच्चों की परिवार और स्कूल के संबंध में जानकारियां एकत्रित की गई थी।


बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. ए. कुमार: पिछले दिनों एक सर्वे किया गया था। जिसमें इसका खुलासा हुआ है। इसमें दिल्ली, पंजाब और हरियाणा के बच्चाों के विषय में जानकारी ली गई थी। दिल्ली के बच्चे जंक फूड ज्यादा पसंद करते है। जबकि यहां के बच्चे पारंपरिक भोजन को।

डाइट चाट
-प्रोटिन के लिए दाल
- सुबह (नाश्ता) दलिया, जै का सत्तू, अंडा, मौसमी फल
- दोपहर: चावल, रोटी, दाल (अधिक), सब्जी, मांस-मच्छली आदि
- प्रैक्टिस के बाद: जूस, नीबू पानी, दूध, दही और तरल पदार्थ
- रात: रोटी, दाल, चावल, दूध आदि

संतुलित आहार नहीं मिलने से होने वाली बीमारियां
- सिरदर्द, बाल टूटना, खून की कमी, आलस्य, रुखी त्वचा, कमजोरी आदि
 
स्वस्थ्य रहनें के लिए क्या करें
- रोजाना व्यायाम, साइकिलिंग, दौड़, स्वीमिंग, जिम्नास्टिक, जंप, खो-खो कबड्डी, कुस्ती,

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दिल्ली से ज्यादा हरियाणा के बच्चों की काया छरहरी