DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जल विद्युत परियोजना के समर्थन में आमरण अनशन की घोषणा

उत्तराखंड में अलग-अलग नदियों पर बनने वाली जल विद्युत परियोजनाओं को बंद किये जाने का विरोध करते हुये इसे जल्द से जल्द शुरू किये जाने की मांग को लेकर पूर्व सांसद तथा स्वतंत्रता सेनानी परिपूर्णानंद पैन्यूली तथा पदमश्री अवधेश कौशल ने आमरण अनशन करने की घोषणा की है।
    
कौशल ने आज संवाददाताओं को बताया कि यदि बंद की गयी परियोजनाओं को फिर से नहीं शुरू किया जाता है तो वह स्वयं, पैन्यूली तथा प्रसिद्ध वैज्ञानिक धीरेन्द्र शर्मा और अन्य लोग आगामी 18 अप्रैल से आमरण अनशन शुरू करेंगे।
 
उन्होंने कहा कि इन परियोजनाओं को बंद किया जाना उत्तराखंड की जनता और इसके विकास के साथ क्रूर मजाक है। कौशल ने कहा कि इस सिलसिले में आज राज्य के प्रबुद्ध नागरिकों की एक बैठक हुई, जिसमें सरकार से मांग की गयी कि इन परियोजनाओं को तुरंत शुरू किया जाये क्योंकि इससे हजारों की संख्या में लोगों का रोजगार तथा विकास जुडा हुआ है।

उन्होंने कहा कि राज्य जल विद्युत परियोजनाओं के माध्यम से उर्जा प्राप्त करने की असीम संभावनायें हैं और इसकी के चलते इसे उर्जा प्रदेश कहा जाने लगा था लेकिन एक एक कर सभी परियोजनाओं को बंद कर इस राज्य के साथ छल किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि बैठक में प्रस्ताव पारित कर मांग की गयी है कि राज्य विधानसभा केन्द्र सरकार को यह प्रस्ताव भेजे कि 17 अप्रैल 2012 के पहले की बंद पडी परियोजनाओं को शुरू किया जाये। यह वैज्ञानिक नीति निर्धारण का मुद्दा है। इसे धार्मिक दृष्टि से न देखा जाये।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जल विद्युत परियोजना के समर्थन में आमरण अनशन की घोषणा