DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बलात्कार एवं हत्या के मामले में दिल्ली पुलिस की खिंचाई की

दिल्ली की एक अदालत ने एक नाबालिग लड़की से सामूहिक बलात्कार और बाद में उसकी हत्या के मामले में कथित तौर पर शामिल एक व्यक्ति के खिलाफ आरोप पत्र दायर करने में पुलिस के गैर पेशेवर और लापरवाह रवैये पर अपनी नाराजगी का इजहार किया है। उसके खिलाफ बलात्कार का प्रयास करने का हल्का आरोप लगाया गया है।

अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश कामिनी लाऊ ने कहा कि हल्के अपराध की धारा लगाकर आरोप पत्र बेहद गैर पेशेवराना और लापरवाह तरीके से दायर किया गया है। मैं इस बात को लेकर बेहद व्यथित हूं कि अब तक जांच एजेंसी ने लड़की की मौत के कारण के पहलू की आगे जांच की जहमत तक नहीं उठाई है।

न्यायाधीश इस बात से नाराज थीं कि मेडिकल रिकार्ड में 15 वर्षीय लड़की से बलात्कार होने की बात कहे जाने के बावजूद पुलिस ने आरोपपत्र में उसे बलात्कार का प्रयास और उसे गंभीर चोट पहुंचाने के अपराध के लिए आरोपित किया। अदालत ने दिल्ली निवासी हितेश के खिलाफ अपने सहायक मोनू की मदद से लड़की का अपहरण करने के बाद उससे 19 मार्च 2010 को पश्चिमोत्तर दिल्ली के बवाना इलाके में चलती कार में कथित तौर पर सामूहिक बलात्कार करने को लेकर आरोप तय किए। मोनू फरार है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बलात्कार के मामले में दिल्ली पुलिस की खिंचाई की