DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तीस लोगों का संयुक्त परिवार मिसाल बना

आधुनिकता और भौतिकता के इस युग में जहां परिवार बिखर रहे हैं वहीं उत्तर प्रदेश की धार्मिक नगरी वाराणसी में तीस सदस्यों का एक संयुक्त परिवार लोगों की नजरों में मिसाल बना हुआ है।

जैतपुरा क्षेत्र के बडी बाजार में इस्लाम भाई के इस संयुक्त परिवार में एक दूसरे के प्रति जबरदस्त प्रेम और एकता दिखाई पड़ती है। परिवार के सदस्यों में न तो कोई मनमुटाव है और न ही वैमनस्यता। परिवार की एकता से लोग अभिभूत हैं।

इस्लाम भाई आठ भाइयों तथा पांच बहनों में सबसे बडे हैं। पांचों बहनों और सभी भाइयों के विवाह हो चुके हैं। इस्लाम भाई के अस्सी वर्षीय पिता हाजी जैनुल आब्दीन का कुशल नेतृत्व उनके परिवार को एकजुट किए हुए है। उनकी बातों का सब लोग न केवल आदर करते हैं बल्कि उनका हर कहा मानते हैं।

इस्लाम भाई के घर में बनारसी साडी का पुश्तैनी कारोबार होता है। परिवार का हर सदस्य सुबह से शाम तक बुनाई में लगा रहता है। उनके घर की एक विशेषता यह भी है कि वहां टेलीविजन नहीं है और न ही किसी के पास टी.वी. देखने का वक्त।

इस्लाम भाई के घर में बच्चों की हंसी ठिठोली चिडियों की चहचहाहट सी गूंजती रहती है। छोटे बच्चों को छोड़कर हर सदस्य पांच वक्त की नमाज पढ़ता है। पुश्तैनी काम बुनाई में लगे रहने के कारण किसी बच्चों को उच्च शिक्षा नहीं मिल पाई है।

उनका कहना है कि पांचो बहनों का परिवार जिस दिन घर आ जाता है तो मेले जैसा दृश्य होता है। उन्होंने कहा कि ऊपर वाले की मेहरबानी है कि उनका अभी भी संयुक्त परिवार है और सभी में प्रेम है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:तीस लोगों का संयुक्त परिवार मिसाल बना