DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दोस्त के धोखे का शिकार हुआ किशन

आगरा के न्यू कमला नगर में रहने वाले व्यापारी किशन कुमार कातिया का पानी की टक्की के पास परचून की दुकान है। इसके साथ ही वह प्लाटिंग का काम भी करता है। वह अपने मित्र पप्पू चौधरी के धोखे का शिकार हुआ है। पूरे घटनाक्रम का मुख्य आरोपी पप्पू चौधरी है। उसी ने अपने साथियों के साथ मिलकर किशन के अपहरण का तानाबाना बुना है।

वह अपने मित्र की बातों में आगरा अपनी एक्टिवा से बाटरवर्क्स आया और वहीं उसने स्टैंड में एक्टिवा खड़ीकर पप्पू के साथ आये एक अज्ञात व्यक्ति को प्लाट दिखाने के लिए आगरा से चलकर टूण्डला आ गया। जहां पांच अपहरणकर्ताओं ने हथियारों के बल पर उसका अपहरण कर लिया। जबकि पप्पू चौधरी को दूसरी गाड़ी में डालकर कही अन्यत्र भेज दिया। जिससे पुलिस को गुमराह किया जा सके। 

10 लाख की फिरौती मांगने की थी मंशा
शिकोहाबाद। अपहरणकर्ताओं द्वारा अपहरण किये जाने के दौरान व्यवसायी से कहा कि तेरी बहुत दिनों से तलाश थी। आज हत्थे चढ़ा है। अपहरणकर्ता व्यापारी के अपहरण के एवज में 10 लाख रुपये की फिरौती की मांग करने की बात कर रहे थे। अपहरणकर्ताओं की बातें सुनकर इस बात का अहसास हो रहा है कि अपहरणकर्ता काफी दिनों से व्यापारी की तलाश में थे। 

अपहरण के बाद जमकर की मारपीट
शिकोहाबाद। अपहरण के बाद व्यापारी किशन कुमार को अपहरणकर्ताओं ने बुरी तरह से मारा पीटा और तीन घंटे तक टूण्डला में ही मुंह पर टेप लगाकर साथ ही हाथ पैरों को काटरून पैकिंग करने वाले टेप से बांधकर गाड़ी में डाल लिया था। अपहरणकर्ता उसे बांधकर मारते पीटते रहे। जिसके कारण उसे कई स्थानों पर चोट के निशान थे। 

जिले में अपहरण की जड़ें जमने लगीं
शिकोहाबाद। आगरा के परचून व्यवसायी के अपहरण में शिकोहाबाद में रहने वाले दो युवक के नाम सामने आने के बाद अंदाजा लगाया जा रहा है कि अपहरण की जड़ें फिर से जमनी शुरू हो गई हैं। संतोष कुमार उर्फ संतू पुत्र मुलायम सिंह निवासी एटा चौराहा, मल्लू चौधरी निवासी टूण्डला वर्तमान में शिकोहाबाद में शगुन वाटिका के पास फौजी नामक किसी व्यक्ति के यहां परिवार के साथ रहते हैं। संतोष अपहरण के मामले में जेल जा चुका है। वहीं न्यू आगरा पुलिस द्वारा वांछित है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दोस्त के धोखे का शिकार हुआ किशन