DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भाजपाराज के घोटालों की होगी जांच

कांग्रेस सरकार ने भाजपा सरकार के घोटालों की जांच कराने का फैसला लेते हुए जांच आयोग का गठन कर दिया। मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा के विशेष निर्देश पर सेवानिवृत्त आईएएस केआर भाटी को जांच आयोग का अध्यक्ष बनाया गया है। जांच आयोग छह महीने के अंदर सरकार को अपनी रिपोर्ट पेश करेगा। आयोग पांच बड़े घोटालों की जांच करेगा।

शुक्रवार को सामान्य प्रशासन की ओर से सचिव सामान्य प्रशासन मनीषा पंवार ने जांच आयोग के गठन आदेश जारी कर दिए। यह जांच आयोग भाजपा सरकार में हुए महाकुंभ, सिटुर्जिया, आपदा प्रबंधन और हाईड्रोपावर प्रोजेक्ट आवंटन में हुए घपलों  की जांच करेगा। राज्य सरकार की ओर से कहा गया है कि उत्तराखंड के पांचों सांसदों ने पिछले साल राष्ट्रपति को दिए गए ज्ञापन में इन मामलों की जांच कराए जाने का आग्रह किया था।

भाजपा शासन में हुए घोटालों को लेकर कांग्रेस ने विधानसभा और सड़क पर काफी विरोध किया था और कांग्रेस की सरकार आने पर इन मामलों की जांच की बात कही थी। भाजपा शासन के हाइड्रोपावर व सिटुर्जिया घोटाले हाईकोर्ट व सुप्रीम कोर्ट की चौखट तक भी पहुंचे थे। हाईकोर्ट ने अधिकारियों पर तल्ख टिप्पणी भी की थी।

कोर्ट के आदेश के बाद सरकार ने निजी कंपनियों को नियमों के विपरीत दिए गए हाईड्रोपावर प्रोजेक्ट के आवंटन को रद्द करना पड़ा था। यही नहीं ऋषिकेश में सिटुर्जिया बायोकैमिकल कंपनी को दी गयी सैकड़ों एकड़ भूमि का आवंटन कैंसिल करने पर भी भाजपा सरकार को बाध्य होना पड़ा था। 

उधर, सितम्बर 2009 में आयी भारी प्राकृतिक आपदा को देखते हुए केन्द्र सरकार ने 650 करोड़ की आर्थिक सहायता मुहैया करायी थी। महाकुंभ में भी केन्द्र ने राज्य सरकार को 500 करोड़ की सहायता मुहैया करायी थी। महाकुंभ व आपदा की धनराशि के उपयोग को भी कांग्रेस ने बड़ा मुद्दा बनाया था। बाद में कैग की रिपोटर में महाकुंभ निर्माण कार्यो पर उंगली उठायी गयी थी।

इधर, मुख्यमंत्री ने भाजपा सरकार के घोटालों की जांच के आदेश के बाद सियासी गलियारों में हलचल मच गयी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भाजपाराज के घोटालों की होगी जांच