DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बुखारी के इस्तकबाल में नहीं रहेगी कोई कमी

आजम खां व शाही इमाम बुखारी के बीच हुई जुबानी जंग का पटाक्षेप सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की बुखारी से मुलाकात के बाद हो गया है। अब 15 अप्रैल को यहां आ रहे बुखारी का इस्तकबाल गमजोशी से किया जाएगा। मुलायम के गृह जनपद आने पर बुखारी को हाथोंहाथ लिए जाने की संभावना है। वहीं चर्चा है कि इस मौके पर कोई न कोई बड़ा सपा नेता भी उनकी अगवानी कर सकता है।

अल्पसंख्यकों को मंत्रिमंडल, अफसरों की नियुक्तियों और एमएलसी के चुनाव में कम तरजीह मिलने से नाराज शाही इमाम मौलाना सैय्यद अहमद बुखारी ने बयान दिए थे। बयानों पर सपा के वरिष्ठ नेता आजम खां ने तल्ख टिप्पणी की थी। इसके बाद मामला बढ़ता जा रहा था, लेकिन दो दिन पहले शाही इमाम और मुलायम सिंह यादव व अखिलेश यादव की मुलाकात हुई।

इसके बाद उनकी मांगों को पूरा करने का आश्वासन देकर शांत कर लिया गया है। इससे अब 15 अप्रैल को इटावा एक निजी कार्यक्रम में भाग लेने आने पर बुखारी का मुलायम के गृह जनपद में जोरदार स्वागत किए जाने की तैयारियां की जा रहीं हैं। अभी सपा के किसी नेता द्वारा भले ही बुखारी के आने को लेकर कोई टिप्पणी न की गई हो लेकिन अंदर खाने सपाइयों की ओर से भी तैयारियां हो रहीं हैं। वहीं चर्चा है कि कोई बड़ा सपा नेता भी बुखारी की अगवानी कर सकता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बुखारी के इस्तकबाल में नहीं रहेगी कोई कमी