DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ओलावृष्टि की चपेट में आए दो और ग्रामीणों ने दम तोड़ा

ओलावृष्टि की चपेट में आए दो और घायलों ने शुक्रवार को दम तोड़ दिया। एक की उरई जिला अस्पताल में मौत हुई तो दूसरे की गांव में। अब ओलावृष्टि से उरई में मरने वालों की संख्या 15 हो गई है।

उधर, हमीरपुर के कुरारा थाना क्षेत्र के गांव लहरा में आकाशीय बिजली की चपेट आई श्यामा कुंवर ने दम तोड़ दिया। हमीरपुर के ही गल्हियामऊ गांव के किसानों की नब्बे फीसद फसल ओलावृष्टि के चलते बर्बाद हो गई है।

बुधवार को आए तेज तूफान और ओलावृष्टि से  उरई के डकोर थाना क्षेत्र के ग्राम जैसारी खुर्द निवासी चतुर सिंह (60) पुत्र श्रीपत सिंह को घायल हो गए थे। गुरुवार को देर रात इलाज के दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया। वृद्ध के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया।

उधर, डकोर क्षेत्र के ही ग्राम गोरन निवासी वीरसिंह (55) पुत्र रामलाल की भी दम तोड़ दिआ। वीरसिंह भी बुधवार रात ओलावृष्टि की चपेट में आकर जख्मी हुए थे। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में इलाज के बाद चिकित्सकों ने उसकी छुट्टी कर घर भेज दिया। वहां उनकी मौत हो गई।

चतरुर सिंह के बेटे अरविंद सिंह ने आरोप लगाया कि जब उनके पिता की हालत बिगड़ी तो अस्पताल के डॉक्टरों व नर्सो से मदद मांगी गई, पर उन्होंने इलाज नहीं किया। इस वजह से हुई मौत से नाराज ग्रामीणों ने शुक्रवार को राजमार्ग पर शव रखकर दो घंटे तक जाम लगा दिया।

वाहनों की कतारें लगते ही प्रशासनिक महकमे में हड़कंप मच गया। आनन-फानन एसडीएम, सीओ समेत कई थानों की फोर्स ने पहुंची। उन्होंने ग्रामीणों को समझाकर जाम खुलवाया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ओलावृष्टि की चपेट में आए दो ग्रामीणों ने दम तोड़ा