DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पैक्स कैडर सचिवों और कर्मचारियों में जागी आशा की किरण

मुलाकात के दौरान मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से मिले आश्वासन से सहकारी कृषि ऋण समितियों के पैक्स कैडर सचिवों और कर्मचारियों में आशा की किरण फैल गई है। पैक्स सचिव वेलफेयर सोसाइटी के प्रतिनिधि मंडल ने मुख्यमंत्री से मिलकर पूर्व सपा सरकार में हाईपावर कमेटी के लिए गए फैसले को लागू करने की अपील की। वार्ता के दौरान श्री यादव ने प्रतिनिधि मंडल को भरोसा दिया कि उन निर्णयों को लागू करने के साथ ही समितियों को मजबूत करने के उपाए किए जाएंगे।

सहकारी कृषि ऋण समितियों के पैक्स कैडर सचिवों और कर्मचारियों को पिछले पांच वर्ष से वेतन नहीं मिल रहा है। वेतन को लेकर पैक्स सचिवों ने सोसाइटी के संरक्षक रमामणि पाण्डे के नेतृत्व में वर्ष 2004 में विधान भवन के सामने 73 दिन का धरना दिया था। एक सचिव ने आत्मदाह का प्रयास भी किया था। सचिव व कर्मचारी वेतन को लेकर लगातार धरना-प्रदर्शन करते रहे है।

पूर्व बसपा सरकार के दौरान भी उनकी लड़ाई जारी रही, पर वेतन नहीं मिला। पैक्स सचिव वेलफेयर सोसाइटी के संरक्षक रमामणि पाण्डे के नेतृत्व में महामंत्री प्रबोध त्यागी, संयुक्त मंत्री जयप्रकाश, पन्ना लाल यादव, वीरेन्द्र पाल सिंह, गोरखनाथ, विद्या सागर शुक्ला व राम पाल सिंह ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से मुलाकात की।

पाण्डे ने सहकारी समितियों की दुर्दशा से अवगत करते हुए उन्हें बताया कि पूर्व सपा सरकार में शिवपाल सिंह की अध्यक्षता में गठित हाईपवार कमेटी ने पैक्स कैडर सचिवों के वेतन के लिए हर वर्ष 54 करोड़ रुपए देने का फैसला लिया था, लेकिन तीन दिन बाद ही चुनाव आचार संहिता लागू होने के कारण फैसला लागू नहीं हुआ और बसपा सरकार ने भी उसे अनदेखा किया।

उन्होंने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से अपील की कि सहकारिता को मजबूत करने के लिए सचिवों की आíथक स्थित में सुधार जरुरी है। ऐसे में हाईपवार कमेटी के फैसले को लागू किया जाए। श्री पाण्डे ने बताया कि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने प्रतिनिधि मंडल को मुख्यमंत्री ने पूरा भरोसा दिया कि जल्द उक्त फैसले को लागू करने के लिए कार्रवाई करेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पैक्स कैडर सचिवों और कर्मचारियों में जागी आशा की किरण