DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुलायम से मिले बुखारी, आश्वासन पर खत्म हुआ गतिरोध

उत्तर प्रदेश के वरिष्ठ कैबिनेट मंत्री आजम खां से वाकयुद्ध से उत्पन्न विवाद के बीच दिल्ली की जामा मस्जिद के शाही इमाम मौलाना बुखारी ने गुरुवार को सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी (सपा) के प्रमुख मुलायम सिंह यादव से मुलाकात की।

बुखारी ने इस मुलाकात के बाद कहा कि सपा प्रमुख से करीब एक घंटे की मुलाकात में मैंने मुसलमानों को प्रदेश मंत्रिपरिषद, विधान परिषद तथा प्रशासन में समुचित भागीदारी नहीं दिये जाने की शिकायत की। हम भीख नहीं बल्कि अपना हक मांग रहे हैं।

उन्होंने कहा मैंने मुलायम सिंह यादव से कहा कि मुसलमानों ने सपा को अपने वोट के जरिये उत्तर प्रदेश का तख्त-ओ-ताज दिया है। यह पहला मौका था जब आपको मुसलमानों को वाजिब हिस्सेदारी दिखानी चाहिये थी। आपने मुसलमानों को ना तो कैबिनेट में मुसलमानों को पूरी हिस्सेदारी दी और ना ही राज्यसभा में।

करीब 80 फीसद मुसलमानों ने बड़ी उम्मीदों से सपा को वोट दिया है और ऐसे में मेरा फर्ज बनता है कि मैं उनकी बात आपके सामने रखूं। बुखारी ने दावा किया कि सपा प्रमुख ने राज्य की कैबिनेट में दो और मुस्लिम मंत्री शामिल करने, विधान परिषद के आगामी चुनाव में उनके दामाद उमर के साथ-साथ बसपा प्रमुख मायावती द्वारा छोड़ी गयी सीट के चुनाव के लिये मुसलमान प्रत्याशी उतारने तथा प्रशासन में मुस्लिम अफसरों को समुचित भागीदारी का वादा किया। बैठक में प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव भी मौजूद थे।

गौरतलब है कि बुखारी को मुलायम सिंह मुलाकात के लिये कल ही लखनउ आना था लेकिन वह अपरिहार्य कारणों से नहीं पहुंच सके थे। इसे लेकर तरह-तरह की अटकलें लगायी जा रही थीं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मुलायम से मिले बुखारी, आश्वासन पर खत्म हुआ गतिरोध