DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

परमाणु अधिकारों पर समझौता नहीं करेगा ईरान

ईरान ने कहा है कि वह इस सप्ताह के अंत में इस्तांबुल में होने जा रही परमाणु वार्ता में शामिल होगा लेकिन वह अपने परमाणु ऊर्जा के अधिकार पर कोई समझौता नहीं करेगा।

ईरान के मुख्य परमाणु वार्ताकार सईद जलीली ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के पांच स्थायी सदस्यों व जर्मनी के साथ शनिवार को होने वाली वार्ता में उनकी सरकार नई पहलों का प्रस्ताव रखेगी।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक जलीली ने बुधवार को कहा कि हम उम्मीद करते हैं कि सुरक्षा परिषद के पांच स्थाई सदस्य और जर्मनी का भी वार्ता में सकारात्मक रुख होगा।

जलीली ने ईरान की परमाणु उपलब्धियों खासकर परमाणु रिएक्टरों के लिए ईंधन छड़ों के निर्माण के लिए उसकी तारीफ की। उन्होंने कहा कि उनका देश वार्ता में अपने विवादास्पद परमाणु कार्यक्रम पर पश्चिम का दबाव बर्दाश्त नहीं करेगा और अपने अधिकारों की रक्षा करेगा।

'न्यूयार्क टाइम्स' ने रविवार को लिखा था कि अमेरिका व उसके पश्चिमी सहयोगी आगामी वार्ता के लिए कुछ मांगें तय करेंगे। इनमें भूमिगत फोडरे परमाणु इकाई को तुरंत बंद किए जाने व 20 प्रतिशत यूरेनियम संवर्धन रोकने जैसी मांगें शामिल होंगी।

पश्चिमी देशों का मानना है कि ईरान अपने परमाणु कार्यक्रम के जरिए परमाणु हथियार बनाने की कोशिश कर रहा है। दूसरी ओर ईरान का कहना है कि इसके जरिए बिजली
उत्पादन किया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:परमाणु अधिकारों पर समझौता नहीं करेगा ईरान