DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अल्जीरिया के प्रथम राष्ट्रपति बेला का निधन

स्वतंत्र अल्जीरिया के पहले राष्ट्रपति और बीसवीं सदी में साम्राज्यवाद के सबसे मुखर विरोधी कहलाने वाले अहमद बेन बेला की मत्यु हो गई है। वे 95 वर्ष के थे।
   
समाचार एजेंसी एपीएस के मुताबिक, बेला को हाल ही में अस्पताल से छुट्टी मिली थी। सांस संबंधी परेशानियों से जूझ रहे बेला की मत्यु अल्जीयर्स स्थित उनके आवास पर ही हुई।
   
अल्जीरिया की स्वतंत्रता में सक्रिय भूमिका निभाने वाले बेला फ्रांस से थे। वे 1963 से 1965 तक अल्जीरिया के राष्ट्रपति रहे। सिर्फ दो साल ही सत्ता में रहने के बाद ही उन्हें उनके पहले साथी बॉमिडीन के नेतृत्व में सेना ने पदच्युत कर दिया था।
  
देश की आजादी में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले बेला को सत्ता परिवर्तन के बाद 1980 तक घर में ही कैद कर के रखा गया था। पहले फ्रांसिसी साम्राज्यवादी ताकतों और फिर राष्ट्रवादी उत्तराधिकारियों ने कुल मिलाकर 24 साल तक बेला को कैद में रखा।
  
अपनी मृत्यु तक बेला राजनीति में सक्रिय रहे। अफ्रीकी संघ में शांति और सुरक्षा की स्थापना के लिए वे 2007 से अफ्रीकी संघ के विशेषज्ञों के पैनल की अध्यक्षता करते रहे।
   
उनकी मत्यु पर वर्तमान राष्ट्रपति अब्दल अजीज बॉउटेफ्लिका ने आठ दिनों का राष्ट्रीय शोक घोषित किया है। उन्होंने कहा कि आज हमने आधुनिक अल्जीरिया का एक बहादुर राजनेता खो दिया है। बेला का अंतिम संस्कार अल्जीयर्स के एल अलिया कब्रिस्तान में स्थानीय समय के मुताबिक साढ़े बारह बजे किया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अल्जीरिया के प्रथम राष्ट्रपति बेला का निधन