DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एक साथ करें इंजीनियरिंग-एमबीए

बारहवीं पास करने के बाद अब डॉक्टरी, इंजीनियरिंग के अलावा एमबीए करने का रास्ता भी साफ हो गया है। पांच वर्षीय एमबीए कोर्स शुरू होने जा रहा है। दूसरे, जो लोग इंजीनियरिंग के साथ एमबीए भी करना चाहते हैं, उन्हें अब नया विकल्प मिलेगा। उनके लिए एक साढ़े पांच वर्षीय दोहरा डिग्री कोर्स शुरू हो रहा है।

अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआईसीटीई) ने इसी सत्र से ये दो नए कोर्स शुरू करने का फैसला किया है। मानव संसाधन विकास मंत्री कपिल सिब्बल गुरुवार को इसकी आधिकारिक रूप से शुरुआत करेंगे। एआईसीटीई के चेयरमैन एस.एस. मंथा ने कहा, इसका मकसद छात्रों को करियर के नए विकल्प उपलब्ध कराना है। दो पांच वर्षीय नए एमबीए कोर्स तैयार किए गए हैं। अभी एमबीए के लिए ग्रेजुएट होना जरूरी है।

इसके बाद दो वर्षीय एमबीए कोर्स में एडमिशन मिलता है। लेकिन सभी छात्र ग्रेजुएशन पूरा नहीं कर पाते और वे एमबीए करने की दौड़ से बाहर हो जाते हैं। ऐसे छात्रों के लिए यह नया पांच वर्षीय कोर्स उपयोगी होगा। ये दोनों कोर्स तैयार कर लिए गए हैं। इसी सत्र से प्रबंधन और इंजीनियरिंग कॉलेजों को इन्हें शुरू करने की इजाजत दी जाएगी। एआईसीटीई के एक अधिकारी के अनुसार एआईसीटीई की मंजूरी के साथ कॉलेजों की मर्जी पर होगा कि वे इस कोर्स को शुरू करते हैं या नहीं।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एक साथ करें इंजीनियरिंग-एमबीए