DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब जान सकेंगे रोडवेज बसों की लोकेशन

अब रोडवेज बसें भी विशिष्ट ट्रेनों और हवाई जहाजों की तरह जीपीएस (ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम) से लैस होंगी। इस सिस्टम से बसों की लोकेशन के बारे में सूचना मिल सकेगी। बताया जा रहा है कि परिवहन निगम इसके लिए बीएसएनएल से समझौता कर सकता है।

परिवहन निगम बसों में जीपीएस सिस्टम लगाने की योजना को मूर्त रूप देने में जुट गया है। काफी हद तक यह काम पूरा हो चुका है। सूत्रों ने बताया कि एक संचार कंपनी से बात हो चुकी थी। कंपनी ने काम करना शुरूभी किया, लेकिन इसी दौरान नेटवर्क संबंधी शिकायतें आईं तो कंपनी को बदल दिया गया। अब बेहतर नेटवर्क वाली कंपनी से बात चल रही है। विभागीय अफसर बीएसएनएल के सीयूजी इस्तेमाल करते हैं। इसलिए बीएसएनएल से ही परिवहन निगम के समझौते के आसार हैं।

क्या है जीपीएस सिस्टम
रोडवेज बसों में कंडक्टर इलेक्ट्रॉनिक टिकट मशीन लेकर चलते हैं। इस मशीन से वे यात्राी का टिकट बनाते हैं। अब इसी मशीन में चिप लगाने की व्यवस्था की जा रही है। यह चिप किसी संचार कंपनी का होगा जो बस की लोकेशन बताने में मदद करेगा। जीपीएस सिस्टम लगने के बाद अधिकारी दफ्तर से ही बस की मॉनिटरिंग कर सकेंगे। वे जान सकेंगे कि बस कहां-कहां और कितनी देर तक रोकी गई।

संचार कंपनियों से बात चल रही है। योजना का काफी काम पूरा हो चुका है। बाकी पर काम चल रहा है। मुख्यालय में भी इस योजना को चालू करने पर जोर दिया जा रहा है। उसके लिए सभी डिपो के अफसरों से आवश्यक तैयारी पूरी कराई जा रही है। शीघ्र ही योजना लागू हो जाएगी।
नीरज अग्रवाल, सहायक क्षेत्रीय प्रबंधक

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अब जान सकेंगे रोडवेज बसों की लोकेशन