DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फंड पहुंचते ही बजेगी एसएमएस की ‘बीप’

अब सर्व शिक्षा अभियान के तहत चलने वाली योजनाओं और उसकी धनराशि का ब्योरा पलक झपकते ही पता चल जाएगा। इसके लिए ग्राम शिक्षा निधि के सभी आंकड़े ऑनलाइन किए जाएंगे। जैसे ही ग्राम शिक्षा निधि में धन ट्रांसफर होगा एसएमसएस से सूचना मिल जाएगी।


इस योजना का मकसद यह है कि सर्वशिक्षा अभियान के तहत जो बजट ग्राम शिक्षा निधि के खाते में भेजा जा रहा है, उसकी सम्पूर्ण जानकारी सम्बन्धित व्यक्ति को होनी चाहिए। धनराशि कितनी और कब उपयोग की गई उस पर भी नजर रखना आसान हो जाएगा। इसके लिए बनारस में 702 ग्राम शिक्षा समितियों द्वारा संचालित 1348 स्कूलों के हेडमास्टर और कुछ शिक्षकों के मोबाइल नम्बर का डाटाबेस बनाया जाएगा। इस पूरे सिस्टम को डेवलप करने के लिए एक सॉफ्टवेयर तैयार किया गया है।
25 अप्रैल तक  सभी ग्राम शिक्षा निधियों के खाते आनलाइन कर देने का लक्ष्य है। इसके संचालन से जुड़ी जानकारी के लिए मंगलवार को लखनऊ में प्रशिक्षण कार्यक्रम में आयोजित किया गया था। इस कार्यक्रम में बीएसए कार्यालय के सहायक लेखाधिकारी और सिस्टम इंचार्ज भाग लेने गए थे।

योजना के फायदे
ग्रांट की जानकारी के लिए बीएसए कार्यालय नहीं दौड़ना होगा
मुख्यालय से लिखित आदेश का इंतजार नहीं करना पड़ेगा
धन का उपयोग समय सीमा के भीतर हो जाएगा
इससे धन के लैप्स होने का खतरा नहीं होगा

ग्राम शिक्षा निधि के मद
शिक्षामित्रों का मानदेय
स्कूल को मिलने वाला वार्षिक अनुदान
टीएलएम का अनुदान
रखरखाव के लिए मिलने वाला अनुदान
बालिका शिक्षा से जुड़े सभी कार्यक्रम के अनुदान
सर्व शिक्षा अभियान के सभी अनुदान

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:फंड पहुंचते ही बजेगी एसएमएस की ‘बीप’