DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूपी सरकार एवं प्रशासन में मुसलमानों को हिस्सेदारी दे: बुखारी

जामा मस्जिद के शाही इमाम मौलाना सैय्यद अहमद बुखारी ने बुधवार को  घोषणा की कि उत्तर प्रदेश में सत्ता और प्रशासन में मुसलमानों की मुनासिब भागदीरी पर कायम है और जब तक यह भगीदारी नहीं मिल जाती तब तक वह संघर्ष जारी रखेंगे।
 
इमाम बुखारी ने बयान में कहा कि उत्तर प्रदेश चुनाव में मुसलमानों ने 80 प्रतिशत वोट देकर समाजवादी पार्टी को सत्ता सौंपी और अब वे सत्ता एवं प्रशासन में हिस्सेदारी की मांग कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि राज्य से राज्यसभा की खाली हुई सात मे से एक सीट ही मुसलमान को दी गई और वह भी मध्य प्रदेश के उस व्यक्ति को जिसे उसके राज्य में ही कोई नहीं जानता है। उन्होंने सपा के इस फैसले पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि इतने बडे़ राज्य में उसे क्या एक भी मुसलमान ऐसा नहीं मिला जो इस सीट के काबिले हो।
 
उन्होंने कहा कि हाल ही में रशीद मसूद के रिटायर होने से उत्तर प्रदेश से राज्यसभा की एक सीट खाली हुई है। जिसे प्रदेश के किसी योग्य एवं पात्र मुसलमान को दी जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि अगर यह मुमकिन नहीं हो तो प्रदेश मंत्रिमंडल में मुसलमानों को आबादी के आधार पर प्रतिनिधित्व दिया जाए।
 
मौलाना बुखारी ने प्रदेश में मंत्री आजम खां का नाम लिए बिना कहा कि उन्होंने सार्वजनिक बयान देकर यह दिखाने की कोशिश की है कि जैसे मैं अपने किसी अजीज के लिए राज्यसभा अथवा विधान परिषद की सीट मांग रहा हूं। उन्होंने कहा कि यह हमारा हक है और हम हिस्सेदारी लेकर रहेंगे।

गौरतलब है कि मौलाना बुखारी का आज लखनऊ जा कर सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव से मुलाकत कर उन्हें मुसलमानों को प्रदेश की सत्ता एवं प्रशासन में भागीदारी देने का आग्रह करने का कार्यक्रम था पर किन्हीं आवश्यक कारणों की वजह से उन्हें अपना लखनऊ जाने का कार्यक्रम रद्द करना पडा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:यूपी सरकार एवं प्रशासन में मुसलमानों को हिस्सेदारी दे: बुखारी