DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मिल गया सीएम का मोबाइल

मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा का ब्लैकबेरी मोबाइल सोमवार को नीलडीह के गोल्फ क्लब में मिल गया। जांच में लगी टीम को सूचना मिली कि गोल्फ क्लब के मैदान में कोई मोबाइल पड़ा हुआ है। जांच करने पर पता चला कि मोबाइल मुख्यमंत्री अजरुन मुंडा का है, जो रविवार को गायब हो गया था। हालांकि मोबाइल की जांच में छेड़छाड़ की आशंका जताई जा रही है। इससे पहले रविवार से लेकर सोमवार दोपहर तक दो दजर्न से ज्यादा लोगों से इस बारे में पूछताछ की गई।

सुबह जब पुलिस जांच के लिए दोबारा पहुंची तब मोबाइल टीम को प्राप्त हुआ। अधिकारी आशंका जता रहे हैं कि कोई उसे यहां रख गया है। हालांकि चोरी की बात किसी ने नहीं स्वीकारी है। पुलिस का कहना है कि मोबाइल गुम हो गया था और मिल गया। मोबाइल खोने के बाद रविवार को बारिश भी हुई थी। ऐसे में यह साफ है कि जहां से मोबाइल मिला है, वहां नहीं था। सोमवार को कोई रख गया है।

आम आदमी की एफआईआर ही दर्ज होती है कई दिनों में मुख्यमंत्री का मोबाइल था तो पूरा पुलिस महकमा इसे खोजने में लगा था। अधिकारियों की नींद उड़ी हुई थी और फोन मिलते ही सभी ने राहत की सांस ली। लेकिन, सवाल यह भी उठ रहा है कि मुख्यमंत्री के मोबाइल को तो तत्परता से खोज लिया गया, लेकिन आम आदमी की तो मिसिंग की एफआईआर दर्ज कराने में ही कई-कई दिन लग जाते हैं। मिलने की बात तो बहुत दूर है।

प्रतिदिन 10 से 15 मोबाइल होते हैं गायब
पुलिस आंकड़ों के अनुसार, पूरे जिले के तमाम थानों में औसतन रोज 10 से 15 मोबाइल खोने की शिकायतें पहुंचती हैं। इनमें चोरी और गलती से कहीं गिर जाने की शिकायतें होती हैं। हालांकि पुलिस अधिकारियों का यह भी कहना है कि कई मामलों में तो लोग मोबाइल रखकर भूल जाते हैं और बाद में मिलने पर पुलिस को बताते भी नहीं हैं। मोबाइल का खास ख्याल रखना चाहिए।

मुख्यमंत्री का मिसप्लेस हुआ मोबाइल पुलिस को मिल चुका है। कई लोगों से पूछताछ भी हो रही है। मोबाइल गोल्फ क्लब में ही मिला।
अखिलेश झा, एसएसपी

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मिल गया सीएम का मोबाइल