DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चर्चित सिवालखास बारात कांड में 36 लोगों पर चार्जशीट

 बरेली। वरिष्ठ संवाददाता

मेरठ के चर्चित सिवालखास बारात कांड में 36 अभियुक्तों के खिलाफ चार्जशीट मेरठ के स्पेशल सीजेएम कोर्ट में दाखिल कर दी गई है। अभियुक्तों पर दूल्हे और बारातियों समेत मेरठ पुलिस के अफसरों को बंधक बनाकर जिंदा जलाने की कोशिश का आरोप है। अभियुक्तों ने बवाल के दौरान एक सिपाही की हत्या कर जानी थाना पुलिस के सिपाहियों से चार राइफलें लूट ली थीं। उनके खिलाफ एसओ थाना जानी और दूल्हे के पिता की ओर से हत्या, जानलेवा हमला, बंधक बनाने, डकैती, आगजनी, मारपीट, 7 क्रिमिनल लॉ अमेंडमेंट एक्ट के तहत दो मुकदमे दर्ज कराए गए थे। दोनों की तफ्तीश मेरठ सेक्टर की सीबीसीआईडी को सौंपी गई थी। सीबीसीआईडी की तफ्तीश में जब आरोपी फंस गए तो उन्होंने तफ्तीश बदलवाकर बरेली सेक्टर को दिलवा दी। यहां भी उनकी पैरवी काम नहीं आई।

इसके बाद मुकदमे की तफ्तीश को आगरा सीबीसीआईडी ने किया। आगरा से भी अभियुक्तों को राहत नहीं मिली। दोबारा मामले की तफ्तीश बरेली सीबीसीआईडी के इंस्पेक्टर राकेश पांडेय को सौंपी गई। इंस्पेक्टर ने तफ्तीश पूरी कर सभी अभियुक्तों के खिलाफ आरोप पत्र कोर्ट में दाखिल कर दिया। ये था मामला भावनपुर क्षेत्र के जेई गांव निवासी नजर मोहम्मद के बेटे गयूर और लताफक का निकाह जानी थाना क्षेत्र के सिवाल खास निवासी इब्ने हसन की बेटियों से तय हुआ था। पांच नवंबर 2007 की दोपहर को बारात सिवालखास पहुंची। जूते चुराई की रस्म अदायगी के दौरान रुपयों के लेन-देन को लेकर दोनों पक्षों में झगड़ा हो गया। झगड़े के बाद दुल्हन पक्ष के लोगों ने दूल्हे और साथी बारातियों को बंधक बना लिया। दूल्हे को छोड़ने के एवज में पांच लाख रुपए मांगे। रुपए न मिलने पर दूल्हे को जान से मारने की धमकी दी गई। मेरठ के तत्कालीन एसपी देहात पूरन सिंह, एसडीएम व सीओ सरधना समेत जानी थाने की फोर्स को बंधक बना लिया। उन्हें एक कमरे में बंद कर जिंदा जलाने का प्रयास किया गया।

घटना में सिपाही ओमपाल, हरि सिंह, महेंद्र सिंह, बाबू लाल शर्मा और बृजराज पर हमला कर उनकी सरकारी राइफलें लूट लीं। एसएसपी के निर्देश पर पहुंची मेरठ जिले की पूरी पुलिस फोर्स ने अफसरों को बंधन मुक्त कराया। घायलों को मेरठ के अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां कांस्टेबल ओमपाल की मौत हो गई।इन अभियुक्तों के खिलाफ चार्जशीट दाखिलसीबीसीआईडी बरेली सेक्टर के इंस्पेक्टर राकेश पांडेय ने मुकदमे की तफ्तीश पूरी कर ली। उन्होंने आरोपी इब्ने हसन, बेटा बिलाल, जर्रार, इसरार, मुजामिल, इकबाल, कादिर, बिलाल पुत्र उमेद, डॉक्टर मूसा, नदीम, जुल्फिकार, मोबिन, हसमत, गुलाब, यूनुस, इकबाल, अयूब और नफीस समेत 36 लोगों के खिलाफ स्पेशल सीजेएम कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चर्चित सिवालखास बारात कांड में 36 लोगों पर चार्जशीट