DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

व्यापार बढ़ाने पर ही घटेंगी दूरियां

पाकिस्तानी राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी का मानना है कि दोनों देशों के बीच रिश्ते सुधारने के लिए व्यापार को बढ़ावा देना ही मुख्य कुंजी है। पाकिस्तान में आतंकवाद की समस्या, सेना व सरकार के बीच तनाव और कश्मीर मसले पर दोनों देशों के बीच मतभेद के बावजूद जरदारी इसे लेकर आश्वस्त हैं कि व्यापार बढ़ता है तो उससे रिश्ते सामान्य होने में मदद मिलेगी। साथ ही दोनों देशों की सरकारों को भी राहत मिलेगी।

पाकिस्तानी राष्ट्रपति के लिए मिनिस्टर इन वेटिंग बनाए गए केंद्रीय जलसंसाधन व संसदीय कार्य मंत्री पवन बंसल जरदारी से काफी प्रभावित हैं। ‘हिन्दुस्तान’ से विशेष बातचीत में बंसल की टिप्पणी थी कि जरदारी उन्हें काफी गर्मजोशी से भरे और बेतकल्लुफ व्यक्ति लगे। आमतौर पर राष्ट्राध्यक्ष प्रोटोकॉल की बंदिशों को तोड़ते नहीं। जरदारी के साथ करीब चार घंटे बिताने के बाद बसंल को ऐसा लगा नहीं कि राष्ट्रपति प्रोटोकॉल से बंधे हुए हैं। कुछ संवेदनशील मसलों को छोड़ शायद ही कोई विषय बचा हो, जिस पर बंसल व जरदारी के बीच इस दौरान चर्चा नहीं हुई। दिल्ली के मिजाज से लेकर मुंबई की मस्ती तक और कराची में उनके घर की किलेनुमा दीवारों से लेकर भारत पाक के बीच दोस्ती की ख्वाहिश तक। पूरे समय दोनों पंजाबी में ही बतियाते रहे। जरदारी के बेटे व पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के अध्यक्ष बिलावल भुट्टो जरदारी ज्यादा समय अपने स्मार्ट फोन पर व्यस्त थे और अपेक्षाओं के विपरीत आंतरिक सुरक्षा मंत्री रहमान मलिक चुपचाप बैठे थे। जरदारी ने खुलासा किया कि वह पहली बार दिल्ली आए हैं, जबकि मुंबई वह शादी से पहले कई बार आए थे। कई वर्षों तक नया साल उन्होंने मुंबई में ही मनाया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:व्यापार बढ़ाने पर ही घटेंगी दूरियां