DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

'केंद्रीय विवि पर पूर्व के कदम से मुकरना संभव नहीं'

महात्मा गांधी की कर्मभूमि चंपारण के मोतिहारी में बिहार केंद्रीय विश्वविद्यालय की स्थापना पर अडिग रहने के संकेत देते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि राज्य सरकार के लिए पूर्व में उठाये गये कदम से मुकरना संभव नहीं है।

नीतीश ने यहां कहा कि मोतिहारी में ही बिहार का केंद्रीय विश्वविद्यालय बनना चाहिए। राज्य सरकार ने केंद्र को मोतिहारी के संबंध में जो प्रस्ताव भेजा है उससे मुकरना या पीछे हटना संभव नहीं है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र ने केंद्रीय विश्वविद्यालय के लिए हमसे जगह के बारे में पूछा हमने मोतिहारी का नाम सुझाया। निर्माण क्षेत्र (बिल्डअप एरिया) के लिए जमीन मांगा गया, वह भी तैयार है। मोतिहारी में किसान एक नहीं तीन तीन स्थान पर जमीन के लिए तैयार हैं। बिहार के लिए पीछे हटने का सवाल नहीं है।

नीतीश कुमार ने कहा कि विश्वविद्यालय के लिए गया का नाम लेकर केंद्र में बैठे लोग अब बिहार में दो जगहों के लोगों को लड़ाना चाहते हैं। 15 फरवरी 2012 को केंद्र से पत्र आया कि वे गया में संभावना तलाश रहे हैं। केंद्र में बैठे लोग विवाद खड़ा करने में माहिर हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस विवाद से हमें कुछ लेना देना नहीं। हम न तो तीन में हैं न ही 13 में हैं। वहीं एक अन्य केंद्रीय विश्वविद्यालय के लिए बिहार सरकार द्वारा किशनगंज में जमीन उपलब्ध कराये जाने के बावजूद अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय की शाखा पर कोई सुगबुगाहट नहीं दिखाने पर नीतीश ने कहा कि राज्य सरकार ने अपना दायित्व पूरा कर लिया। केंद्र से उम्मीद लगाये बैठे हैं कि कब काम शुरू होता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:'केंद्रीय विवि पर पूर्व के कदम से मुकरना संभव नहीं'