DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूपी में विद्युत वितरण सुधारने और राजस्व वसूली बढ़ाने के निर्देश

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने विद्युत वितरण में होने वाली हानि को कम करने तथा राजस्व वसूली बढाने के निर्देश दिये है। मुख्यमंत्री यादव ने सोमवार को यहां विभाग के कार्यों की समीक्षा करते हुए कहा कि बिजली उपभोक्ताओं की संख्या का शत-प्रतिशत सत्यापन शीघ्र सुनिश्चित किया जाये और वितरण क्षेत्र में कार्यरत सभी अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिये कि कोई भी व्यक्ति उपयुक्त कनेक्शन लिये बिना बिजली का उपभोग नहीं कर सके।
   
उन्होंने कहा कि शत प्रतिशत मीटर रीडिंग व बिलिंग करने तथा उपभोग की गयी बिजली की वसूली सुनिश्चित होनी चाहिये। ग्रामीण उपभोक्ताओं को निर्धारित न्यूनतम बिजली अवश्य मिल सके। इसके लिए ग्रामीण क्षेत्रों में विद्युत आपूर्ति व्यवस्था में गुणात्मक सुधार की आवश्यकता पर बल देते हुए मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये कि 1500 करोड़ रूपये की फीडर सेपरेशन स्कीम को तत्काल लागू किया जाये। उन्होंने 168 शहरों में लागू की जा रही त्वरित विद्युत विकास एवं सुधार कार्यकम (ए़पीड़ी़आऱपी़ योजना) कार्य को समयबद्व ढंग से पूर्ण करने के निर्देश भी दिये।

मुख्यमंत्री ने बिजली उत्पादन की समीक्षा करते हुए विद्युत उत्पादन, ग्रहों का पीएलएफ बढाने तथा निर्माणाधीन परीक्षा, हरदुआगंज एवं अनपरा डी परियोजनाओ को भी शीघ्र पूरा कराने तथा बंद पड़ी लघु जल विद्युत परियोजनाओं को पुन:शुए कराने के भी निर्देश दिये। इस अवसर पर बैठक में शामिल पावर कारपोरेशन के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक अवनीश अवस्थी ने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा दिये गये निर्देशों के अनुरुप कार्रवाई की जायेगी तथा हानि में कमी, वसूली बढाने, बिजली क्रय में मितव्ययिता एवं मांग क्षेत्र में आवश्यक प्रबंधन से इस वर्ष 4300 करोड़ रुपये की सीमा तक नगद हानियों में कमी लायी जायेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:यूपी में विद्युत वितरण सुधारने और वसूली बढ़ाने के निर्देश