DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बुखारी साम्प्रदायिक चरित्र के व्यक्ति हैं: आजम

उत्तर प्रदेश में सत्तारुढ समाजवादी पार्टी (सपा) के वरिष्ठ नेता और राज्य के नगर विकास मंत्री आजम खां ने दिल्ली के जामा मस्जिद के शाही इमाम मौलाना अहमद बुखारी पर साम्प्रदायिक होने का सोमवार को आरोप लगाकर टकराव को और बढा दिया।

खां ने सपा के वरिष्ठ नेता और राज्य सभा सदस्य मुनव्वर सलीम के बारे में आपत्तिजनक टिप्पणी किए जाने को लेकर मौलाना बुखारी से माफी मांगने की मांग की है। खां ने कहा कि मैं मौलाना बुखारी को मुरादाबाद से मेयर का चुनाव लड़ने की चुनौती देता हूं। यदि वह चुनाव जीत जायेंगे तो मैं राजनीति से सन्यास ले लूंगा। मुरादाबाद में मौलाना बुखारी की ससुराल है।

उन्होंने आज यहां पत्रकारों से कहा कि शाही इमाम साम्प्रदायिक चरित्र के व्यक्ति हैं। उन्होंने मौलाना बुखारी इण्डिया शाइनिंग नारे के दौरान भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का समर्थन किया था। राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबन्धन (राजग) सरकार के कार्यकाल में दो पेट्रोल पम्प आवंटित करवाया था। उस समय भाजपा के राम नाइक पेट्रोलियम मंत्री थे। खां ने सपा से राज्य सभा सदस्य मुनव्वर सलीम के खिलाफ मौलाना बुखारी की टिप्पणी को बेहद आपत्तिजनक बताया और उनसे माफी मांगने की मांग की। उन्होंने दिल्ली वक्फ बोर्ड से भी बुखारी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

इस बीच सपा अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव कल शाम दिल्ली चले गए। माना जा रहा है कि वह मौलाना बुखारी प्रकरण को समाप्त करने के लिए उनसे बातचीत करेंगे। आजम खां के विरोधी माने जाने वाले कुछ मुस्लिम सपा नेताओं ने भी मौलाना बुखारी से मुलाकात की। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने खां और बुखारी के विवाद में सीधे कोई टिप्पणी या बयान नहीं दिया है लेकिन सपा सूत्रों का कहना है कि इस मामले में उन्होंने अपने मंत्रि मंडलीय सहयोगी के रुख का समर्थन किया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बुखारी साम्प्रदायिक चरित्र के व्यक्ति हैं: आजम