DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पीएनजी कनेक्शन के लिए रजिस्ट्रेशन होगा नहीं आसान

ट्रांस हिंडन। शरद पाण्डेय

आईजीएल गाजियाबाद में पीएनजी कनेक्शन के रजिस्ट्रेशन करने से पूर्व संबंधित क्षेत्रों का सर्वे कराएगा और फिजिबिलिटी होने पर उसी क्षेत्र के उपभोक्ताओं के लिए रजिस्ट्रेशन किए जाएंगे। यानी पीएनजी के लिए हर क्षेत्र का उपभोक्ता रजिस्ट्रेशन नहीं करा सकेगा। आईजीएल ने पिछले दिनों कई इलाकों में पीएनजी की फिजिबिलिटी न होने पर रिफंड लौटाने के बाद यह फैसला लिया है।

इसके लिए टीएचए में सर्वे हो गया है। आईजीएल ने पिछले दिनों टीएचए के सभी इलाकों में पीएनजी के लिए रजिस्ट्रेशन खोला था। कुछ क्षेत्रों में रजिस्ट्रेशन के बाद कनेक्शन देने काम भी शुरू हो गया था। लेकिन कुछ इलाकों में करीब साल गुजरने के बाद भी कनेक्शन नहीं दिए जा सके।

उपभोक्ताओं द्वारा आईजीएल से संपर्क करने पर मालूम हुआ कि जहां पर उनका घर है, वहां पर पीएनजी की फिजिबिलिटी नहीं है। इसी आधार पर आईजीएल ने ऐसे तमाम उपभोक्ताओं के रुपए रिफंड करने शुरू कर दिए। कई उपभोक्ताओं ने आईजीएल के वरिष्ठ अधिकारियों से लेकर मंत्रालय तक मामले की शिकायत की। इससे आईजीएल की भी किरकिरी हुई। इंजीनियर निकालेंगे रास्ताजिन इलाकों में फिजिबिलिटी नहीं होगी, उन इलाकों के लिए आईजीएल के इंजीनियर बाद में रास्ता निकालेंगे।

अधिकारियों ने बताया कि ऐसे इलाकों में रहने वाले उपभोक्ताओं को कनेक्शन कभी नहीं मिलेगा, ऐसा नहीं है। पहले जहां फिजिबिलिटी है, वहां के उपभोक्ताओं को कनेक्शन दिया जाएगा। फिजिबिलिटी न होने वाले क्षेत्रों के लिए इंजीनियर रास्ता निकालेंगे।

सर्वे कराने के बाद होगा रजिस्ट्रेशन आईजीएल के अधिकारियों ने बताया कि दिल्ली में हुई बैठक में फैसला लिया गया है कि पीएनजी के लिए रजिस्ट्रेशन कराने से पूर्व क्षेत्रों का सर्वे कराया जाएगा। जिस इलाके में फिजिबिलिटी होगी, वहां के लिए रजिस्ट्रेशन किए जाएंगे। मौजूदा समय कुल रजिस्ट्रेशन (गाजियाबाद और टीएचए ) 45 हजार के करीब उपभोक्ताओं का दिया जा चुका है कनेक्शन 38 हजार के करीब रजिस्ट्रेशन करा चुके उपभोक्ता, जिनको नहीं मिला कनेक्शन 7 हजार के करीब कितने उपभोक्ताओं को किया रिफंड 1500

कहां नहीं होती है फिजिबिलिटी पीएनजी की फिजिबिलिटी उन घरों पर नहीं होती है

जहां घर के बाहर नाला आ रहा है और नाला ढका न हो। इसलिए नाले के ऊपर से पाइप लाइन नहीं निकाल सकते हैं। नाले के ऊपर से पाइप निकालने पर गैस पाइप के नीचे बेस नहीं होगा। इससे हमेश रिस्क बना रहता है। इसके अलावा अगर नीचे से पाइप लाइन निकाली जाती है तो सड़क से लेकर घर के अंदर काफी गहराई से पाइप लाइन ले जानी पड़ेगी। इससे सड़क व घर दोनों में गहरे गड्ढे खोदने पड़ेंगे, जो संभव नहीं होता है।

दिल्ली में हुई बैठक में तय किया गया है कि सर्वे कराने के बाद ही संबंधित क्षेत्रों के उपभोक्ताओं के रजिस्ट्रेशन किए जाएंगे। रजिस्ट्रेशन करा लेने के बाद जिन इलाकों में फिजिबिलिटी नहीं होती है वहां के उपभोक्ता तरह-तरह के आरोप लगाते हैं। इससे बचने के लिए सर्वे कराने का फैसला लिया गया है। हेमंत सिंह, चीफ मैनेजर, एनसीआर, आईजीएल

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पीएनजी कनेक्शन के लिए रजिस्ट्रेशन होगा नहीं आसान