DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बंटवारे के खिलाफ 18 से बिजलीकर्मियों की बेमियादी हड़ताल

बिजली बोर्ड के बंटवारे की घोषणा से बिजलीकर्मी गुस्से में हैं। अपने गुस्से का इजहार करने के लिए बिजलीकर्मियों ने आंदोलन पर उतरने का ऐलान किया है। बिजली बोर्ड में कार्यरत कर्मियों के पांच यूनियनों ने इस मुद्दे पर सीधी लड़ाई के लिए विद्युत मजदूर संघर्ष मोर्चा बनाया है।

इसी मोर्चे के बैनर तले 18 अप्रैल से राज्यभर के बिजलीकर्मी बेमियादी हड़ताल पर जाएंगे। इनके गुस्से की एक प्रमुख वजह है कि बंटवारे के बाद सेवा शर्त, वेतन, बकाया भुगतान व रिटायरमेंट लाभ की बाबत कर्मचारी संगठनों से बात नहीं की गई। हालांकि राज्य सरकार व विद्युत बोर्ड प्रबंधन की ओर से इस बाबत लिखित आश्वासन दिया गया था।

संघर्ष मोर्चा के नेता उपेन्द्र कुमार चौधरी ने कहा कि सरकार व बोर्ड ने कर्मचारी संगठनों से बातचीत के बाद ही बंटवारे की कार्रवाई करने की बात कही थी। लेकिन बिना कर्मचारी संगठनों से बातचीत के बोर्ड को पांच भाग में बांटने का फैसला कर लिया गया है।

अब तक कर्मचारियों की सेवाशर्त, वेतन आदि की बाबत किसी तरह का निर्णय नहीं हुआ है। इससे  बिजलीकर्मियों में आक्रोश है। बिजलीकर्मियों ने मजबूर होकर बेमियादी हड़ताल पर उतरने का फैसला किया है। इस बाबत राज्य सरकार व बिजली बोर्ड प्रबंधन को सूचना दे दी गई है।

उनके अनुसार मोर्चा में शामिल सभी पांच यूनियनों के नेता हड़ताल की सफलता के लिए गया, डेहरी, आरा, सासाराम व पटना में अभियान चला चुके हैं। अब उत्तर बिहार के जिलों में यूनियन नेता कूच करेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बंटवारे के खिलाफ 18 से बिजलीकर्मियों की बेमियादी हड़ताल