DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भाई नहीं माना तो पी ली डाई : शीलू

दुष्कर्म पीड़िता शीलू ने अपने भाई पर गुस्साकर डाई पी थी। डाई पीने के पीछे शीलू ने वजह बताई कि उसे और उसके परिवार को दुश्मनों से खतरा है। ऐसे में वह अपने भाई संतू को शाम को कहीं जाने से मना कर रही थी। संतू नहीं माना तो उसने डाई पी ली। शीलू ने पुलिस को जमकर कोसा। आरोप लगाया कि पुलिस ने उसकी सुरक्षा घटा ली है। सुरक्षा में कमी की वजह से गांव में खतरा बना रहता है। शीलू ने मांग की है कि उसकी सुरक्षा और बढ़ाई जाय। डीआईजी पीएस श्रीवास्तव ने बताया कि शीलू की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। उसे कोई खतरा नहीं है। शीलू ने अपने भाई से झगड़कर डाई पी थी। अस्पताल से सही होने पर उसे उसके घर तक पहुंचा दिया गया है।

इनसेट.
विधायक और उनके लोगों से खतरा
शीलू निषाद का कहना है कि उसे विधायक और उनके लोगों से जान का खतरा है। पहले सुरक्षा में चार महिला कास्टेबल लगी थीं। लेकिन अब सिर्फ एक कांस्टेबल तैनात है। सड़क के किनारे घर होने की वजह से लोगों का आना जाना होता है। ऐसे में हमेशा भय बना रहता है। हाईकोर्ट के आदेश पर कुछ दिन सुरक्षा तो चाकचौबंद की गई लेकिन बाद में गाड़ी भी हटा ली गई और सुरक्षाकर्मियों की संख्या भी कम कर दी गई।

इनसेट.
भाई और पिता से होती रही है तकरार
शीलू की अपने भाई संतू और पिता अच्छेलाल से हमेशा तकरार होती रहती है। कभी वह पिता से नाराज होकर शहर में आकर रहने लगती है तो कभी भाई से नाराज होकर आत्महत्या का प्रयास करती है। एक महीने पहले शीलू का किसी बात को लेकर अपने पिता अच्छेलाल से कहासुनी हो गई थी। इससे गुस्साकर वह शहर के गायत्री नगर मोहल्ले में रहने लगी थी। कुछ दिन रहने के बाद वह वापस लौट गई। शुक्रवार को उसने अपने भाई संतू से झगड़ा करके डाई पी ली।

इनसेट.
कालोनी मिले या सुरक्षा:शीलू
शीलू निषाद ने आरोप लगाया कि पुलिस उसकी सुरक्षा घटाती जा रही है। वह गांव में रहती है, उसके विरोधियों की वहां रिश्तेदारी है। वह लोग आते-जाते रहते हैं। शीलू ने आशंका जतायी कि उसके साथ किसी भी वक्त अनहोनी हो सकती है। इस वजह से वह शहर में आकर रहने लगी थी। यहां भी असुरक्षा महसूस करने पर वह वापस अपने गांव शहबाजपुर लौट गई। शीलू का कहना है कि पुलिस प्रशासन या तो उसे शहर में रहने के लिए कालोनी दिलाए या फिर सुरक्षा व्यवस्था मुहैया कराए। ऐसा नहीं हुआ तो वह इसकी शिकायत करेगी।

इनसेट.
शीलू से मिलने नहीं दे रही थी पुलिस
शीलू को शुक्रवार की रात जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया तो पुलिस ने मीडियाकर्मियों से बात करने की इजाजत नहीं दी। शनिवार की सुबह होश में आने के बाद भी पुलिस शीलू से नहीं मिलने दे रही थी। दोपहर बाद शीलू को अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया। घर जाते समय शीलू ने मीडिया से बताया कि दुश्मनों से जान जाने का खतरा बना रहता है। इस लिए वह नहीं चाहती कि उसके घर के लोग शाम को कहीं जाय। संतू मना करने के बाद नहीं मान तो उसने डाई पी ली।

इनसेट.
पसीने-पसीने हो रही थी पुलिस
शीलू ने डाई पी तो पुलिस सकते में आ गई। गनीमत थी कि शीलू समय से अस्पताल पहुंच गई। डाक्टरों ने उसका उपचार करके स्थिति पर काबू पा लिया। अगर शीलू के साथ कुछ अनहोनी हो जाती तो पुलिस को जवाब देना भारी पड़ जाता। क्यों कि हाईकोर्ट के आदेश पर शीलू को सुरक्षा मुहैया कराई गई है। ऐसे में जब तक शीलू अच्छी नहीं हो गई पुलिस के माथे पर चिंता की लकीरे साफ झलकर रही थी। शीलू के ठीक होने पर पुलिस ने राहत की सांस ली।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भाई नहीं माना तो पी ली डाई : शीलू