DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सेना की गैस एजेंसियों से भी कालाबाजारी!

सैन्यकर्मियों के लिए अलॉट की गई गैस एजेसियों पर भी कालाबाजारी करने वालों का गिरोह सक्रिय हो गया है। सेना आपूर्ति के गैस सिलेंडर सिविल इलाकों में महंगे रेट पर बेचे जा रहे हैं। हैरत की बात है कि खुलेआम हो रहे इस कारनामे के बारे में न तो सेना को पता है न ही आईओसी अफसरों को जानकारी है।


सेना के उपयोग के लिए दो गैस एजेंसियां इंडियन ऑयल कारपोरेशन ने दी हैं। इनमें से एक जाट रेजीमेंट सेंटर में और दूसरी यूबी एरिया हेडक्वार्टर के पास है। इन दोनों ही एजेंसियों से केवल सैन्यकर्मियों को ही गैस आपूर्ति की जा सकती है। काफी समय से यहां के गैस सिलेंडर सिविल लोगों को बेचे जा रहे हैं। सूत्रों के अनुसार एक गिरोह सक्रिय है जो आर्मी जवानों के नाम पर पर्ची कटवाकर गैस सिलेंडर निकाल लेता है और इसे सिविल इलाकों में महंगे रेट पर बेचता है। इधर कालाबाजारी के चलते सैन्य कर्मियों के परिजनों को गैस सिलेंडर नहीं मिलते। कई बार सैन्य कर्मियों को महंगे रेट पर बाहर से इन्हीं कालाबाजारी करने वालों से गैस सिलेंडर खरीदना पड़ता है। नाम न छापने की शर्त पर सैन्यकर्मी का कहना है कि इसकी शिकायत सेना के अफसरों से भी की जा चुकी है लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हो सकी।

सेना के अफसर इस मामले में कुछ बोलने को भी तैयार नहीं है। इधर आईओसी को भी इस कालाबाजारी के बारे में कोई जानकारी नहीं है। आईओसी गैस के सीनियर एरिया मैनेजर मिथिलेश कुमार सिन्हा का कहना है कि इसके बारे में कोई औपचारिक शिकायत नहीं मिली है। शिकायत मिलने पर कार्रवाई की जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सेना की गैस एजेंसियों से भी कालाबाजारी!