DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

छात्र की मौत में एसओजी का दरोगा सस्पेंड

राबर्ट्सगंज कोतवाली क्षेत्र के बढ़ौली गांव में शुक्रवार की शाम छात्र की संदिग्ध परिस्थितियों में हुए मौत के मामले में एसओजी के दरोगा आरके सिंह को सस्पेंड कर दिया गया है। साक्ष्य मिटाने के आरोप में दरोगा और लड़की के माता-पिता के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। वहीं,लड़की का पिता इसे एक हादसा बता रहा है। उसका कहना है कि छत से गिरने के कारण मौत हुई है।

   एसपी सुभाष चन्द्र दुबे ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान शनिवार को स्पष्ट कर दिया कि घटनास्थल से मिलने वाले साक्ष्यों से साफ लगता है कि छात्र की मौत गोली लगने से हुई है। लेकिन यह हत्या है अथवा आत्महत्या, यह कहना मुश्किल है। एसपी मानें तो उन्हें शुक्रवार की शाम को सूचना मिली कि इंटर की छात्र शची तिवारी की बढ़ौली गांव में गोली लगने से मौत हो गई है। इस पर एएसपी, सीओ व इंस्पेक्टर को मौके पर भेजा गया। लेकिन जब तक पुलिस मौके पर पहुंचती, एसओजी प्रभारी आरके सिंह लड़की के शव को लेकर उसके माता-पिता के साथ मिर्जापुर चले गये। बाद में वाराणसी के मर्णिकर्णिका घाट पर शव की अंत्येष्टि कर दी। इसकी सूचना मिलते ही आरोपित एसओजी दरोगा आरके सिंह को सस्पेंड कर दिया गया। शनिवार को लड़की के माता-पिता व आरके सिंह को बुलाया गया और घटना की जानकारी ली गई।

एसपी के मुताबिक एसओजी प्रभारी के कमरे से पिस्टल और एक कारतूस का खोखा बरामद किया गया है। कमरे में लड़की के खून के कतरे भी पाये गये हैं। जो खोखा मिला है वह दरोगा की ही गोली का है। जिस इनोवा गाड़ी से लड़की के शव को ले जाया गया था, वह गाड़ी और दरोगा की बुलेट भी बरामद कर ली गई है। एसपी ने बताया कि डीएनए, फोरेंसिक, फिंगरप्रिन्ट जांच के साथ-साथ शव की राख की भी जांच करायी जाएगी। राख लेने के लिए पुलिस टीम को वाराणसी के मर्णिकर्णिका घाट पर भेजा गया है। इस मामले में साक्ष्य मिटाने के आरोप में दरोगा व लड़की के माता-पिता के खिलाफ रपट दर्ज की जायेगी। घटना के खुलासे के लिए मोबाइल कॉल डिटेल्स भी निकलवाया जा रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:छात्र की मौत में एसओजी का दरोगा सस्पेंड