DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भिक्षु के साथ अमानवीयता का आरोप

उत्तर प्रदेश के वाराणसी में गंगा अभियान के समन्वयक स्वामी अविमुक्तेश्वरानन्द ने शनिवार को आरोप लगाया कि काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के सर सुन्दरलाल चिकित्सालय के डॉक्टरों ने वहां भर्ती गंगा प्रेमी भिक्षु के साथ अमानवीय व्यवहार किया है।
 
स्वामी जी ने आरोप लगाया कि इस भिक्षु को आज वार्ड के कमरे से निकालकर बरामदे में छोड़ दिया गया जहां उसकी देखभाल करने वाला कोई नही था। ग्यातव्य है कि गंगा की निर्मलीकरण के लिए अनशन करने वाले भिक्षु को पहले कबीरचौरा स्थित मंडलीय अस्पताल में रखा गया और फिर बाद में उसे सर सुन्दरलाल अस्पताल में भर्ती करा दिया गया।
 
उन्होंने कहा कि अस्पताल के डॉक्टरों ने भिक्षु को आज सुबह छुट्टी देकर बरामदे में डाल दिया। उन्होंने कहा कि प्रशासन ने परसों उसे जबरदस्ती खिलाकर अनशन समाप्त करवाया इसलिए वह इस भिक्षु की देखभाल कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि भिक्षु की कोई जांच भी नहीं की गई। उन्होंने कहा कि गंगा के मुद्दे पर साधु.सन्त अपना आन्दोलन जारी रखेगें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भिक्षु के साथ अमानवीयता का आरोप