DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बुखारी ने मुलायम के सामने रखी शर्त, निशाने पर आजम

समाजवादी पार्टी पर मुसलमानों की अनदेखी करने का आरोप लगाकर अपने दामाद उमर अली खान की विधान परिषद की उम्मीदवारी को मना करने वाले जामा मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी ने अब सपा सुप्रीमो के सामने शर्त रखी है। उन्होंने कहा है कि सपा द्वारा तीन मुसलमानों को विधान परिषद भेजने पर ही वह मानेंगे।

सपा आलाकमान के सामने यह शर्त रखने के साथ ही बुखारी ने पार्टी के मुस्लिम चेहरा और अखिलेश यादव सरकार के वरिष्ठ मंत्री आजम खान पर जमकर निशाना साधा है।

शाही इमाम ने शनिवार को कहा कि मैंने अपने दामाद की उम्मीदवारी वापस की है, क्योंकि मुसलमानों को उनका वाजिब हक सपा ने नहीं दिया है। मुलायम सिंह का फोन आया था और मैंने उनसे कह दिया है कि विधान परिषद के सात उम्मीदवारों में तीन मुसलमान होने चाहिए और इसके बाद मैं झुकूंगा।

बुखारी ने कल मुलायम को पत्र लिखकर उमर की उम्मीदवारी को वापस करने की जानकारी दी थी। सपा की ओर से विधान परिषद की सात नामों का एलान किया गया है, उनमें एक नाम उमर अली खान का भी था। वैसे विधानसभा चुनाव में उमर सहारनपुर की बेहट सीट से सपा के

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बुखारी ने मुलायम के सामने रखी शर्त, निशाने पर आजम