DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुशर्रफ से मुक्ति के लिए नवाज से गठबंधन

पाकिस्तान के राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी ने कहा है कि उन्होंने 2008 के आम चुनाव के बाद पीएमएल (एन) नेताओं नवाज शरीफ और शाहबाज शरीफ के साथ गठबंधन इसलिये किया कि ताकि तत्कालीन सैन्य शासक परवेज मुशर्रफ के शासन का अंत हो।

जरदारी ने गवर्नर्स हाउस में समाचार संपादकों तथा अपनी पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के कार्यकर्ताओं के साथ बातचीत में यह खुलासा किया। उन्होंने कहा कि मैंने मुशर्रफ से छुटकारा पाने के लिये शरीफ भाईयों को रियायतें दी।

उन्होंने कहा कि शरीफ भाईयों में अकड़ थी और मैं जानता था कि कैसे उन्हें झुकाया जाय। जरदारी पिछले कुछ दिन से पंजाब प्रांत की राजधानी में डेरा डाले है। लगता है कि वे पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ओर उनके भाई पंजाब के मुख्यमंत्री शाहबाज शरीफ को निशाना बनाकर 2013 के आम चुनाव के लिये अभियान की शुरुआत कर रहे हैं।

2008 के आम चुनाव में खंडित जनादेश के कारण पीपीपी और पीएमएल (एन) ने केन्द्र में कुछ समय के लिये गठबंधन सरकार बनायी थी। गठबंधन केवल छह माह ही चल पाया क्योंकि शरीफ ने जरदारी पर आरोप लगाना शुरू कर दिया था कि वे कई वायदों से मुकर गये हैं। पीपीपी केन्द्र में गठबंधन का नेतृत्व करती रही जबकि पंजाब में पीएमएल (एन) का शासन है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मुशर्रफ से मुक्ति के लिए नवाज से गठबंधन