DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अवैध कटाई से उजड़ रहा पन्ना का जंगल

मध्यप्रदेश के पन्ना जिले में बेशकीमती सागौन वृक्षों से आच्छादित हरी-भरी पहाड़ियों और घने जंगल उजड़ रहे हैं। वनों की अधाधुंध कटाई से यहां के पर्यावरण को गंभीर खतरा उत्पन्न हो गया है तथा वन्य प्राणियों का वजूद भी खत्म हो रहा है।

पन्ना जिले के उत्तर वनमंडल अंतर्गत विश्रामगंज रेन्ज में ही दो हजार से अधिक सागौन वृक्षों को काटा गया है जिनकी अनुमानित कीमत पांच करोड़ रुपए बताई गई है।

उल्लेखनीय है कि वन विभाग की मिलीभगत से सागौन वृक्षों की हो रही अवैध कटाई के संबंध में स्वयं सेवी संगठन भास्कर जनविकास स्वास्थ्य एवं शिक्षा विकास समिति द्वारा मामले की जांच कराए जाने की मांग की गई थी। लेकिन इस शिकायत को उत्तर वन मंडल के अधिकारियों ने गंभीरता से नहीं लिया और सागौन वृक्षों की अवैध कटाई की जांच पर पर्दा डालने का प्रयास किया गया।

निष्पक्ष जांच नहीं कराए जाने पर स्वयंसेवी संगठन के अध्यक्ष श्रीकांत दीक्षित ने जनहित याचिका के माध्यम से अवैध कटाई के तथ्य हाईकोर्ट जबलपुर में प्रस्तुत किए जिसे न्यायालय ने गंभीरता से लिया। न्यायाधीश केके द्विवेद्वी ने 6 फरवरी 2012 को जारी आदेश में निर्देश दिए हैं कि वृक्षों की हुई अवैध कटाई की उच्च स्तरीय जांच होनी चाहिए तथा इस जांच की निगरानी वन संरक्षक और वनमंडलाधिकारी स्वयं करें। आदेश में यह भी कहा गया है कि शिकायतकर्ता स्वयंसेवी संगठन का पक्ष व साक्ष्य जांच में समाहित किया जाय।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अवैध कटाई से उजड़ रहा पन्ना का जंगल