DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पहली स्मार्ट सिटी बनने की खबर से खुशी की लहर

प्रदेश में सुहागनगरी को पहली स्मार्ट सिटी बनने की योजना का प्रस्ताव मुख्यमंत्री द्वारा स्वीकार करने की खबर से शुक्रवार को दिनभर वाशिंदे खुश दिखाई दिए। हर किसी की जुबान पर एक ही बात थी कि चलो प्रदेश सरकार ने कुछ तो ऐसा किया, जिससे जिले में बिजली संकट से मुक्ति मिल जाएगा। इतना ही नहीं उद्योग धंधों को सबसे ज्यादा लाभ होगा। पावर ग्रिड कारपोरेशन आफ इंडिया लिमिटेड ने पारेषण व्यवस्था बढ़ाने के लिए यूपी पावर ट्रांसमिशन कारपोरेशन के साथ एक संयुक्त उपक्रम स्थापित करने की कार्य योजना तैयार की है। इस प्रस्ताव को जब मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के सामने रखा गया तो उन्होंने इसे स्वीकर कर लिया है। इतना ही नहीं चुनिंदा शहरों में बनने वाले स्मार्ट ग्रिड और स्मार्ट सिटी योजना में सुहागनगरी को प्रथम चरण में विकसित करने के निर्देश दिए हैं। फिरोजाबाद को स्मार्ट सिटी के रूप में तैयार करने की कवायद अगले कुछ ही दिनों में शुरू हो जाएगी।

बिजली संकट से मिलेगी मुक्ति
फिरोजाबाद। स्मार्ट सिटी बनने के बाद कांचनगरी में बिजली संकट से मुक्ति मिल जाएगी। हालांकि कांचनगरी टीटीजोन में भी आती है लेकिन बिजली की कटौती लोगों को रुला रही है जबकि आदेश हैं कि इस टीटीजोन में बिजली की निर्वाध आपूर्ति होनी चाहिए। इस कार्य योजना के मूर्त रूप देने के बाद शायद बिजली संकट से बिल्कुल मुक्ति मिल जाएगी।

उद्योग जगत को सबसे ज्यादा लाभ
फिरोजाबाद। स्मार्ट सिटी के रूप में सुहागनगरी के डेवलप होने के बाद सबसे ज्यादा लाभ उद्योग जगत को मिलेगा। यहां कांच की फैक्ट्रियां स्थापित हैं। चूड़ी का काम 24 घंटे होता है। ऐसे में बिजली की निर्वाध आपूर्ति उद्योगपतियों के लिए खुशियों भरा रहेगा। 

पेयजल संकट से मिलेगी मुक्ति
फिरोजाबाद। स्मार्ट सिटी बनने के बाद सुहागनगरी को पेयजल संकट से भी मुक्ति मिल सकती है। इस समस्या का सीधा जुड़ाव बिजली की आपूर्ति से रहता है। अधिकांश अधिकारी जब भी पेयजलापूर्ति नहीं होने पर जाम लगाते या नारेबाजी करते लोगों को समझाते हैं तो बिजली की अघोषित कटौती का भी रोना रोते हैं। लेकिन इस योजना के बाद बिजली की कटौती खत्म हो जाएगी तो फिर पेयजल संकट कम होना लाजिमी है। 

छोटे कुटीर उद्योगों को मिलेगी राहत
फिरोजाबाद। स्मार्ट सिटी बनने के बाद छोटे छोटे कुटीर उद्योग जो बिजली की अघोषित कटौती के चलते अपने अस्तित्व को खो चुके हैं या फिर बंद होने के कगार पर पहुंच गए हैं, उन्हें पनपने का पूरा मौका मिलेगी। बिजली की निर्वाध आपूर्ति उनके उद्योग को लाभ पहुंचाएगी। 

प्रदेश सरकार का कांचनगरी को तोहफा
फिरोजाबाद। जसराना के सपा विधायक रामवीर सिंह यादव का कहना है कि प्रदेश में सरकार बनने के बाद यह किसी जिले को पहला तोहफा दिया जा रहा है। फिरोजाबाद को इससे काफी लाभ मिलेगा। सिरसागंज विधायक हरिओम यादव ने कहा कि प्रदेश सरकार का पूरा ध्यान फिरोजाबाद की ओर है। अभी तो स्मार्ट सिटी बनाया जा रहा है, आगे और सुविधाएं मिलेंगीं। सपा जिलाध्यक्ष रामसेवक यादव का कहना है कि फिरोजाबाद के लोगों के प्रति मुख्यमंत्री का जुड़ाव है। स्मार्ट सिटी के लिए इसी जिले को चुनना इस बात का परिचायक है। वहीं सपा नेता अंकित जैन, आदर्श यादव धन्नू, नीरज यादव आदि ने भी मुख्यमंत्री का आभार जताया है।

वर्जन----
प्रदेश में यह नई स्कीम आई है। इस स्कीम में और क्या क्या होगा, इसके बारें में पूरा ब्यौरा अभी लखनऊ स्तर से मिलेगा। यहां पर कितना लोड है, कितने पावर हाउस हैं और क्या क्या जरूरतें होंगी, इसे लेकर ब्यौरा तैयार कराया है जिसे लखनऊ की टीम को दिया जाएगा।

जेपी शर्मा, अधीक्षण अभियंता, विद्युत विभाग  
स्मार्ट सिटी को लेकर अभी सुहागनगरी की प्राथमिकताएँ तय होंगी। लखनऊ स्तर से एक टीम आएगी जिसके साथ मिलकर डिस्कसन किया जाएगा। स्मार्ट सिटी बनने से शहर को काफी लाभ होगा।
जेपी वर्मा, अधिशासी अभियंता, विद्युत विभाग

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पहली स्मार्ट सिटी बनने की खबर से खुशी की लहर