DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नसीमुद्दीन के खिलाफ जांच के आदेश

उत्तर प्रदेश में बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सरकार के कार्यकाल के दौरान मंत्री रहे और बसपा अध्यक्ष मायावती के सबसे करीबी नसीमुदीन सिद्दिकी फिर विवादों में घिर गए हैं। उन पर एक साथ दो पदों पर बने रहने का आरोप है। सरकार ने इस मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं।

बसपा सरकार में आबकारी विभाग सहित एक दर्जन से अधिक विभागों की जिम्मेदारी सम्भालने वाले नसीमुद्दीन पर आरोप है कि वह 1985 से लेकर 2०12 तक दो पदों पर कार्यरत रहे। इस दौरान नसीमुद्दीन विधान परिषद और विधानसभा के सदस्य रहे और बाद में मंत्री भी बने। लेकिन इन पदों पर बने रहने के बावजूद उन्होंने होमगार्ड विभाग में सहायक कमांडेंट का पद नहीं छोड़ा था।

शिकायतकर्ता अशोक निगम ने सूचना के अधिकार कानून के तहत जानकारी मांगी थी, जिसमें इस बात का खुलासा हुआ है। इस सम्बंध में राज्य के होमगार्ड मंत्री ब्रह्मशंकर त्रिपाठी ने कहा कि मामले के संज्ञान में आने के बाद जांच के आदेश दे दिए गए हैं। अधिकारियों से तीन महीने के भीतर जांच पूरी कर रपट प्रस्तुत करने को कहा गया है। जांच रपट आने के बाद उचित कार्रवाई की जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नसीमुद्दीन के खिलाफ जांच के आदेश