DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अमेरिका का दावा, मुंबई हमले में था सईद का हाथ

अमेरिका ने कहा है कि उसने लश्कर-ए-तैयबा के संस्थापक हाफिज सईद पर एक करोड़ डॉलर का इनाम उसे न्याय के कठघरे में लाने के लिए रखा है, क्योंकि उसने 2008 के मुंबई हमले में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।
   
अमेरिकी विदेश विभाग के प्रवक्ता मार्क टोनर ने कहा कि हम उसके खिलाफ कानून के मुताबिक कार्रवाई करना चाहते हैं। उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि सईद पर इनाम उसे पकड़ने के लिए नहीं बल्कि उसके अभियोजन में इस्तेमाल हो सकने योग्य जानकारी के लिए रखा गया है।
   
टोनर ने कहा कि जैसा कि सभी जानते हैं कि वह इस वक्त पाकिस्तान में मौजूद है, इसलिए हम उसके ठिकाने के बारे में नहीं जानना चाहते हैं। हम यह बात निश्चित तौर पर जानते हैं। हम उसके खिलाफ अभियोजन चलाने के लिए सूचना चाहते हैं।
   
अमेरिकी प्रवक्ता ने कहा कि लश्कर कई हमलों में शामिल रहा है। जनवरी 2010 में श्रीनगर हवाई अड्डे पर होने वाला हमला, जिसमें पांच भारतीय नागरिक मारे गए थे, दिसंबर 2001 में भारत के संसद भवन पर हुआ हमला, जुलाई 2006 में मुंबई की ट्रेन पर हुआ हमला, फरवरी 2010 में काबुल के होटलों पर हुआ हमला, जिसमें नौ भारतीय, चार अफगान और एक फ्रांसीसी नागरिक मारा गया था।
   
सईद के खिलाफ कोई आरोप नहीं होने संबंधी पाकिस्तान के बयान पर पूछे गए सवाल पर टोनर ने कहा कि अमेरिका मानता है कि सईद इन अपराधों का दोषी है। हालांकि उन्होंने इससे जुड़ी विस्तृत जानकारी नहीं दी।
   
उन्होंने कहा कि सईद पर एक करोड़ डॉलर का इनाम लोगों को उसके खिलाफ सूचना देने के लिए प्रेरित करने को रखा गया है, ताकि पाकिस्तान या कहीं और की अदालत में उसके खिलाफ अभियोजन चलाया जा सके। इनाम की घोषणा के बाद सईद के कई बार टेलीविजन पर बयान देने संबंधी सवाल पर उन्होंने उम्मीद जताई की वह जल्द ही सलाखों के पीछे होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अमेरिका का दावा, मुंबई हमले में था सईद का हाथ