DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

टीईटी अभ्यर्थियों की समस्याओं का समाधान शीघ्र: मुख्यमंत्री

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने यूपीटीईटी 2011 की परीक्षा रद्द किये जाने के प्रकरण से संबंधित समस्त पहलुओं पर विचार करने के लिये मुख्य सचिव की अध्यक्षता में एक समिति गठित करने का निर्देश दिया है। समिति तीन सप्ताह में अपनी संस्तुति करेगी।

यूपीटीईटी-2011 के अभ्यर्थियों के एक प्रतिनिधिमण्डल से मुलाकात के दौरान मुख्यमंत्री ने आश्वासन दिया कि उनकी तमाम समस्याओं का निराकरण जल्दी ही किया जायेगा। प्रतिनिधिमण्डल ने मुख्यमंत्री से आग्रह किया कि इस परीक्षा में बैठने वाले लाखों युवाओं के भविष्य को अंधकारमय होने से बचा लें।

प्रतिनिधिमण्डल में शामिल अभ्यर्थियों ने कहा कि 2011 की परीक्षा को कथित अनियमितताओं के कारण रद्द न किया जाये क्योंकि इसमें अधिकांश अभ्यर्थियों का कोई हाथ नहीं है। मुख्यमंत्री से प्रतिनिधिमण्डल के सदस्यों ने कहा कि कुछ अधिकारियों और चंद अभ्यर्थियों की गलतियों की सजा लाखों अभ्यर्थियों को नहीं मिलनी चाहिए।

इन लोगों ने यह भी कहा कि 9 नवम्बर 2011 को उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा अध्यापक सेवा नियमावली में किये गये 12वें संशोधन को भी यथावत बनाए रखना चाहिए, क्योंकि मेरिट पर आधारित यह व्यवस्था पूर्व में प्रचलित शैक्षणिक योग्यता के आधार पर अंक देकर चयन करने से ज्यादा बेहतर एवं पारदर्शी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:टीईटी अभ्यर्थियों की समस्याओं का समाधान शीघ्र: मुख्यमंत्री