DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पेट्रोमेक्स की रोशनी में हुई पीजी की परीक्षा

इलाहाबाद विश्वविद्यालय के वनस्पति विज्ञान विभाग में गुरुवार को पेट्रोमेक्स और इमरजेन्सी लाइट की रोशनी की पीजी की परीक्षा करवाई गई। आंधी के बाद लाइट जाने पर जेनरेटर नहीं चल सका तो आनन-फानन में पेट्रोमेक्स और इमरजेन्सी लाइट का इंतजाम किया गया। इससे छात्रों में आक्रोश है। उनका कहना है कि इस कारण उन्हें करीब एक घंटे तक परीक्षा देने में काफी असुविधा का सामना करना पड़ा।

विभाग में गुरुवार को एमएससी प्रीवियस की परीक्षा थी। परीक्षा 11 से दो बजे के बीच होनी थी। करीब 10.45 बजे आंधी आ गई तो विश्वविद्यालय परिसर की लाइट गुम हो गई। छात्रों का कहना है कि वे 15 मिनट पहले ही परीक्षा देने के लिए पहुंच गए थे। वनस्पति विज्ञान विभाग परिसर में हर ओर बड़े-बड़े पेड़ होने के कारण कमरों में दिन में अंधेरा रहता है।

धूप और लाइट न होने के कारण बीएससी लेक्चर थियेटर, जहां परीक्षा होनी थी, में अंधेरा हो गया। छात्रों का कहना है कि थोड़ी देर बाद विभाग के कर्मचारी पेट्रोमेक्स और छह इमरजेन्सी लाइट लेकर आए और उसे जलाकर लेक्चर थियेटर में रोशनी की। तीन बेंच कमरे के बाहर बरामदे में भी लगवाए गए हालांकि उस पर कोई छात्र बैठने को तैयार नहीं हुआ।

इसके बाद परीक्षा हुई। करीब 12.15 बजे लाइट आई तो स्थिति सामान्य हुई। छात्रों ने ‘हिन्दुस्तान’ को बताया कि इमरजेन्सी लाइट तो विभाग में थी पर पेट्रोमेक्स को तत्काल कटरा से खरीद कर मंगवाया गया।

इस बारे में विभागाध्यक्ष प्रो. दीनानाथ शुक्ल ‘दीन’ से पूछा गया तो उन्होंने बताया कि लाइट जाने के बाद वैकल्पिक इंतजाम किए गए थे लेकिन इससे परीक्षा में कोई व्यवधान नहीं हुआ है। सूत्रों का कहना है कि विश्वविद्यालय में डीजल खरीद का मामला लंबित होने के कारण इन दिनों बिजली गुल होने के बाद जेनरेटर भी नहीं चलाया जाता है।

डीजल खरीद की फाइल कुलपति प्रो. एके सिंह के पास पड़ी है। कुछ लोगों का आरोप यह है भी है कि बिजली जाने के बाद सिर्फ वीसी और रजिस्ट्रार दफ्तर के लिए ही जेनरेटर चलता है। यह हाल उस केंद्रीय विश्वविद्यालय का है जो हर साल विश्वविद्यालय अनुदान आयोग से मिले करोड़ों रुपये खर्च न हो पाने के कारण यूजीसी को वापस कर रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पेट्रोमेक्स की रोशनी में हुई पीजी की परीक्षा