DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खादी मंत्री राजाराम पाण्डेय के गांव में ‘पंचर’ हुई साइकिल

अपने गृह बूथ से पार्टी को नहीं जिता पाने वाले सपा नेताओं में खादी और ग्रामोद्योग मंत्री राजाराम पाण्डेय का नाम भी शामिल है। मूल रूप से पट्टी विधानसभा क्षेत्र के गधियांव निवासी राजाराम पाण्डेय के पैत्रक गांव के दो बूथों से सपा को केवल 84 वोट ही मिले। सपा दोनों बूथों पर तीसरे नम्बर पर रही। अब यह अलग बात है कि गांव से सपा को करारी पराजय मिलने के बाद भी राजाराम पाण्डेय अखिलेश यादव मंत्रिमण्डल में कैबिनेट मंत्री का ओहदा पा गए।

सपा प्रदेश अध्यक्ष और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की निगाहें पार्टी के उन पदाधिकारियों पर तिरछी है जिनके गृह बूथ पर साइकिल नहीं दौड़ी। इसको लेकर प्रदेश स्तर पर छानबीन अभियान चल रहा है। जिला इकाईयों से ऐसे पदाधिकारियों और सक्रिय नेताओं का नाम मांगा जा रहा है। खबर है कि इन पदाधिकारियों को संगठन की मुख्य धारा से अलग रखा जाएगा।

लेकिन बेल्हा में तो एक मंत्री के अपने गांव से ही सपा बुरी तरह से हार गई। खादी ग्रामोद्योग मंत्री राजाराम पाण्डेय मूल रूप से पट्टी के गधियांव गांव निवासी हैं। लेकिन उन्होंने पहले गड़वारा और अब इसकी जगह बनी विश्वनाथगंज सीट को अपना कार्यक्षेत्र बनाया है। विश्वनाथगंज से राजाराम पाण्डेय ने सपा के टिकट पर चुनाव जीता और विधायक बन गए। अखिलेश यादव मंत्रिमण्डल में उन्हें बतौर कैबिनेट मंत्री शामिल भी कर लिया गया।

इधर सपा के स्थानीय जिम्मेदारों ने पदाधिकारियों और सक्रिय नेताओं के गृह गांव के बूथों पर मिले वोटों की छानबीन की तो उसमें राजाराम पाण्डेय का नाम भी शामिल मिला। राजाराम पाण्डेय के गांव गधियांव में दो पोलिंग बूथ प्रथम और द्वितीय बने थे। दोनों में कुल मिलाकर सपा को केवल 84 वोट मिले और वह तीसरे स्थान पर खिसक गई। दोनों बूथों पर बसपा पहले और भाजपा दूसरे नम्बर पर रही। 
 
घर में ही खेत रहे मंत्री जी
गधियांव प्रथम में बसपा को 166, भाजपा को 141 और सपा को केवल 38 वोट ही मिले
गधियांव द्वितीय में बसपा को 122, भाजपा को 106 और सपा को महज 46 वोट ही मिल सके मंत्री राजाराम पाण्डेय का अपने गांव में बराबर आना-जाना लगा रहता है, मंत्री बनने के बाद वह पिछले महीने गांव में आए और रात रुके गांव में दौरे के समय मंत्रीजी ने घरेलू बूथों से भी सपा के हारने पर अपना गुस्सा व्यक्त भी किया था
 
लेकिन सपा तो जीत गई
राजाराम पाण्डेय के गांव से सपा भले ही हार गई लेकिन पट्टी में पहली बार उसका विधायक 156 वोट से चुनाव जीत गया। इस वजह से यह मसला चर्चा में नहीं रहा। लेकिन अब पार्टी के भीतर इसकी जमकर चर्चा हो रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:खादी मंत्री राजाराम पाण्डेय के गांव में ‘पंचर’ हुई साइकिल